David Willey backs his decision to play in IPL by putting Yorkshire contract on stake
David Willey © Getty Images

इंग्लैंड के ऑलराउंडर डेविड विली ने कहा कि इस साल यार्कशर के कॉन्ट्रेक्ट को दांव पर लगाकर इंडियन प्रीमियर लीग में खेलने का उनका फैसला सही था। इस 28 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा कि चेन्नई सुपरकिंग्स के कोच स्टीफन फ्लेमिंग की देखरेख में वो बेहतर खिलाड़ी बने हैं हालांकि आईपीएल चैंपियन की तरफ से वो केवल तीन मैचों में खेले थे।

अफगानी खिलाड़ियों ने बैंगलोर के मैदान पर मनाया ईद का जश्न
अफगानी खिलाड़ियों ने बैंगलोर के मैदान पर मनाया ईद का जश्न

विली अब अपने इस अनुभव को अगले साल इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में इस्तेमाल करना चाहते हैं। उन्होंने यार्कशर के कॉन्ट्रेक्ट को दांव पर लगाकर आईपीएल में खेलने का फैसला किया था और जब उनसे पूछा गया कि क्या ये मुश्किल फैसला था तो उन्होंने कहा, ‘‘मैंने इस बारे में कुछ नहीं सोचा था। आपको दुनिया के सबसे बड़े टी20 टूर्नामेंट में हर दिन खेलने का मौका नहीं मिलता। इससे मेरा (यार्कशर के साथ) कॉन्ट्रेक्ट दांव पर लग गया था लेकिन अब सारा मामला सुलझ गया है।’’

यार्कशर से फिर से कॉन्ट्रेक्ट करने वाले विली ने कहा, ‘‘मैं जब यहां से बाहर रहा तो मेरे अंदर खेल के लिए प्यार फिर से जाग गया। मुझे वास्तव में लगा कि मैं फिर से इस खेल का स्टूडेंट बन गया हूं। मैंने एक अन्य साल के लिए यार्कशर से कॉन्ट्रेक्ट किया है और मैं अब भी सभी फॉर्मेट में खेलना चाहता हूं।’’