DDCA faces conundrum with Rajat Bhatia, Parvinder Addca-faces-conundrum-with-rajat-bhatia-parvinder-awana-not-not-qualified-as-selectors-as-selectors-as-per-new-bcci-constitution-Awana-not-not-qualified-as-selectors-as-selectors-as-per-new-BCCI-constitution
parvinder awana © IANS (File Photo)

बीसीसीआई के नए संविधान को लेकर उच्चतम न्यायालय के फैसले से डीडसीए अपने दो नवनियुक्त चयनकर्ताओं रजत भाटिया  और परविंदर अवाना को लेकर पशोपेश की स्थिति में है क्योंकि ये दोनों चयनकर्ता बनने के मानदंडों पर खरे नहीं उतरते।

रसेल की हैट्रिक के बाद सेंचुरी, बोले- इससे अच्‍छी शुरुआत नहीं हो सकती थी
रसेल की हैट्रिक के बाद सेंचुरी, बोले- इससे अच्‍छी शुरुआत नहीं हो सकती थी

डीडीसीए की क्रिकेट समिति ने सीनियर समिति के लिए भाटिया और जूनियर समिति के लिए अवाना को चुना था ।

पूर्व तेज गेंदबाज अवाना ने 2012 में दो टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले थे और पिछले महीने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं। वहीं भाटिया ने अभी संन्यास नहीं लिया है।

उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार कोई भी खिलाड़ी तभी चयनकर्ता बन सकता है जब उसने कम से कम पांच साल पहले खेल को अलविदा कह दिया हो ।

अब डीडीसीए भाटिया और अवाना को नियुक्ति पत्र नहनीं दे सकता क्योंकि ऐसा करना नियम के अनुरूप नहीं होगा।

भाटिया ने स्वीकार किया कि अभी तक उन्होंने संन्यास नहीं लिया है और फरवरी में ढाका लीग खेला है। अवाना ने आखिरी मैच दिसंबर 2016 में खेला था ।

भाटिया ने कहा , ‘ मैने कहा था कि करार पर हस्ताक्षर करने के बाद प्रतिस्पर्धी क्रिकेट को अलविदा कह दूंगा। मेरा पत्र तैयार है लेकिन मुझे पहले करार चाहिए। जहां तक उच्चतम न्यायालय के फैसले की बात है तो मुझे इसकी जानकारी नहीं है। डीडीसीए ही मुझे बताएगा कि क्या मेरी नियुक्ति को लेकर कोई मसला है।’