Dehradun International Stadium gets green signal from ICC
Rashid Khan(File Photo) © AFP

आईसीसी के विशेष समिति की अंतिम जांच के बाद उत्तराखंड सरकार द्वारा तैयार किए गए देहरादून इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम का आधिकारिक तौर पर उद्घाटन किया गया। आईसीसी समिति ने स्टेडियम को अंतर्राष्ट्रीय पैमानों के अनुरूप पाया और अपनी जांच के बाद इस मैदान को खेल के तीनों फॉर्मेट में मैचों के आयोजन की मंजूरी दे दी।

'आईपीएल ने भारतीय क्रिकेट को पैसे ही नहीं खिलाड़ी भी दिए'
'आईपीएल ने भारतीय क्रिकेट को पैसे ही नहीं खिलाड़ी भी दिए'

समिति ने इसमें खिलाड़ियों की सुविधाओं, मीडिया और प्रसारण आवश्यकताओं को अंतर्राष्ट्रीय मानकों को पाया। उत्तराखंड की राजधानी में स्थित यह स्टेडियम रोलिंग पहाड़ियों और नदियों की पृष्ठभूमि के बिल्कुल सामने स्थित है। इस स्टेडियम में 25000 दर्शकों के बैठने की सुविधा है।

इस स्टेडियम में मैदान के अलावा भी रेस्तरां,खाने के लिए हॉल और सम्मेलन कक्ष समेत अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध हैं। स्टेडियम अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा के मानकों पर खरा उतरता है। इस स्टेडियम से आपातकाल में दर्शकों को महज 8 मिनट के भीतर निकाला जा सकता है।

कोलाज डिजाइन द्वारा तैयार किया गया देहरादून अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम भारत का पहला लीड (ऊर्जा और पर्यावरण डिजाइन) गोल्ड मानक स्टेडियम है। कोलाज डिजाइन, भारत की अग्रणी खेल इंफ्रास्ट्रगचर कंपनी है। कोलाज डिजाइन ने पहले भी भारत में पहली बार हुए फीफा अंडर-17 विश्व कप के लिए सभी छह स्टेडियमों (गोवा, गुवाहाटी, कोच्चि, कोलकाता, नवी मुंबई और नई दिल्ली) पर काम किया था।

इस सुविधा के निर्माण में किए गए प्रयासों का जिक्र करते हुए, कोलाज डिजाइन के सीईओ और संस्थापक रामकुमार सुब्रमण्यम ने कहा, “यह स्टेडियम बनाने और खेल सुविधाओं को तैयार करना एक कठिन काम है। इसमें काफी मेहनत लगी है। यह विशेष स्टेडियम उत्तराखंड सरकार के साथ हमारे गठबंधन के हिस्सेदारी से बनाया गया था। सरकार की ये चाहत थी कि ये स्टेडियम विश्व स्तरीय सुविधा के साथ-साथ कला का भी प्रदर्शन करे। सरकार की इस चाहत की वजह से ही हमनें ये स्टेडियम बनाया।”
स्टेडियम को अफगानिस्तान क्रिकेट टीम का घरेलू मैदान के तौर पर चुना गया है और तीन , पांच और सात जून 2018 को वह इसी मैदान पर बांग्लादेश के खिलाफ तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगी।