Dinesh Karthik: One bad tournament and I will be on my way out
दिनेश कार्तिक © Getty Images

महेंद्र सिंह धोनी की गैर मौजूदगी में श्रीलंका में हो रही निदाहास ट्रॉफी में टीम इंडिया में विकेटकीपर बल्लेबाज की भूमिका निभा रहे दिनेश कार्तिक अच्छे से जानते हैं कि उनके पास मौके कम हैं और वो हर मौके का पूरा फायदा उठाना चाहते हैं। बांग्लादेश के खिलाफ फाइनल मैच से पहले दिए बयान में कार्तिक ने कहा, “मैं जिस स्थिति में हूं, वहां हर एक टूर्नामेंट अहम है। एक खराब टूर्नामेंट और मैं टीम से बाहर हो सकता हूं।”

बांग्लादेश को कम समझने की गलती नहीं करेगा भारत: दिनेश कार्तिक
बांग्लादेश को कम समझने की गलती नहीं करेगा भारत: दिनेश कार्तिक

कार्तिक ने आगे कहा, “मैं अपने खेल में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहतां हूं। मैं दबाव को झेलना चाहता हूं। इससे फर्क नहीं पड़ता कि ये टूर्नामनेंट खेलूं या फिर आईपीएल या फिर इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज खेलूं। हर मैच जरूरी है क्योंकि मौके बहुत कम हैं। टीम इंडिया में कॉम्पटीशन इतना ज्यादा है कि जब भी आपको मौके मिलते हैं तो आपको अपना सर्वश्रेष्ठ करना होता है, जैसा कि मैं कर रहा हूं लेकिन जरूरी है कि मुझे प्रदर्शन करना है। इसे इतना ही आसान रहने देते हैं।”

कार्तिक का कहना है कि वो खुद पर प्रदर्शन का ज्यादा दबाव नहीं डालना चाहते हैं, केवल मिले हुए मौकों का फायदा उठाना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “मैं वो खिलाड़ी बनना चाहता हूं, जिसे जब मौका मिले और लोग कहें कि अरे! ये खिलाड़ी ऐसा भी कर सकता है, इसे टीम में रहना चाहिए। मुझे खुद को इसी तरह की ऊर्जा देनी है और दूसरों को भी। इसलिए मैं हर मैच में अच्छा करने की कोशिश कर रहा हूं। मैं अभी बहुत आगे की नहीं सोच रहा हूं और अपना सर्वश्रेष्ठ करने पर ध्यान दे रहा हूं।”