© AFP
© AFP

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाने से पहले जब टीम इंडिया की टेस्ट टीम का ऐलान हुआ था तो सभी को ये लगा था कि ये टीम द.अफ्रीका में इतिहास रच डालेगी और 25 साल से सीरीज नहीं जीत पाने के कलंक को धो डालेगी, लेकिन अफसोस ऐसा हुआ नहीं। कप्तान विराट कोहली की अगुवाई में टीम इंडिया 3 मैचों की सीरीज के पहले दो टेस्ट गंवा बैठी और सीरीज हार गई। केपटाउन में करारी हार के बाद टीम इंडिया ने सेंचुरियन में भी 135 रनों से हार का मुंह देखा और उसका दक्षिण अफ्रीकी सरज़मीं पर तिरंगा लहराने का सपना, सपना ही रह गया। सेंचुरियन में हार के साथ ही कुछ दिलचस्प आंकड़े सामने आए हैं आइए डालते हैं उस पर एक नजर

1. विराट की पहली सीरीज हार- सेंचुरियन टेस्ट में हार के साथ ही विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया की सीरीज जीत का अभियान थम गया। विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में पहली बार सीरीज हार देखी। लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीतने के बाद आखिरकार टीम इंडिया का विजयरथ दक्षिण अफ्रीका ने थाम दिया।

2. 17 दिन में 2 टेस्ट हार- पिछले दो सालों के रिकॉर्ड को देखें तो टीम इंडिया ने सिर्फ 1 ही टेस्ट गंवाया था लेकिन साल 2018 के पहले 17 दिनों में ही उसने दो टेस्ट गंवा दिए। साल 2016 में टीम इंडिया एक भी टेस्ट नहीं हारी, वहीं साल 2017 में उसे एक टेस्ट ऑस्ट्रेलिया ने हराया था।

सेंचुरियन टेस्ट: भारत की 135 रनों से हार, सीरीज़ भी गंवाई
सेंचुरियन टेस्ट: भारत की 135 रनों से हार, सीरीज़ भी गंवाई

3. एशियाई टीम को हमेशा मिली है द.अफ्रीका में हार- 1992 से लेकर आज तक टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीकी सरजमीं पर सीरीज नहीं जीती है। वो 6 सीरीज गंवा चुकी है और एक बार साल 2010 में टेस्ट सीरीज ड्रॉ रही। आपको बता दें कि सिर्फ टीम इंडिया ही नहीं, बल्कि एशिया की दूसरी टीमें पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका भी आजतक द.अफ्रीका में सीरीज नहीं जीती है।