Former SLC chief accused Arjun Rantunga, Arvinda de Silva of match-fixing
Arjuna Ranatunga © Getty Images

श्रीलंका क्रिकेट के पूर्व अध्यक्ष तिलंगा सुमतिपाला का आरोप 1996 विश्व कप विजेता अर्जुन राणातुंगा और अरविंदा डी सिल्वा देश के पहले खिलाड़ी थे जिनके नाम मैच फिक्सिंग शिकायत में शामिल थे।

नेहरा बोले, मोहम्मद शमी नहीं कर सकते लगातार 8-9 ओवर गेंदबाजी
नेहरा बोले, मोहम्मद शमी नहीं कर सकते लगातार 8-9 ओवर गेंदबाजी

सुमतिपाला ने पत्रकारों से कहा, “अर्जुन और अरविंद के नाम का जिक्र मैच फिक्सिंग में लिया गया था, उन पर किसी गुप्ता से 15,000 डॉलर लेने का आरोप लगा था।” उन्होंने कहा कि उस समय उनके (श्रीलंका क्रिकेट) प्रशासन को राणातुंगा और डी सिल्वा द्वारा मैच फिक्सिंग करने के आरोपों की शिकायत की जांच नहीं करने का दोषी ठहराया गया था। सुमतिपाला के इस आरोप ने राणातुंगा और उनके बीच लंबे समय से चल रही जुबानी जंग को और बढ़ावा दिया है।

मौजूदा सरकार में मंत्री राणातुंगा ने पहले सुमातिपाला के परिवार पर सट्टेबाजों के साथ संबंध रखने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि सुमातिपाला के भ्रष्ट प्रबंधन के तहत खेल का स्तर काफी नीचे गिरा है। राणातुंगा के भाई निशंथा ने एसएलसी के 30 मई के चुनावों में उम्मीदवारी के लिए अदालत में मामला दायर किया था जबकि सुमातिपाला फिर से निर्वाचित होने के लिए तैयार थे। एसएलसी प्रमुख के पद के लिए निशिंथा, सुमातिपाला के दो प्रतिद्वंद्वियों में से एक थे। फिलहाल श्रीलंकाई खेल मंत्रालय ही क्रिकेट बोर्ड की देखरेख कर रहा है।