Gautam Gambhir fears if his daughters ask him about meaning of rape
Gautam Gambhir (File Photo) © Getty Images

भारतीय टीम के क्रिकेटर गौतम गंभीर हमेशा से ही सामाजिक मुद्दों पर अपनी राय बेबाकी से रखने के लिए जाने जाते हैं। उन्‍होंने कश्‍मीर से लेकर महिलाओं के प्रति अपराध पर खुलकर अपनी राय रखी है। हाल ही में एक एक अखबार में लिखे लेख में गंभीर ने कहा, “मुझे डर लगता है कि अगर मेरी बेटियों ने मुझसे रेप शब्‍द का मतलब पूछ लिया तो मैं उन्‍हें क्‍या जवाब दूंगा।” गंभीर ने महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध पर चिंता व्‍यक्‍त करते हुए सरकार के उस अध्‍ययादेश पर भी सवाल उठाए, जिसमें 12 साल की उम्र से कम की लड़की से रेप पर मौत की सजा का प्रावधान करने की बात कही गई है। गौतम गंभीर ने कहा, “रेप रेप होता है। चाहे इसे किसी बच्‍ची के साथ किया जाए या फिर किसी व्‍यस्‍क के साथ। रेप के दोषी को पीड़ित की उम्र के हिसाब से सजा नहीं दी जानी चाहिए।

वेस्‍टइंडीज के खिलाफ वर्ल्‍ड इलेवन से पांड्या बाहर, इस खिलाड़ी को मिली जगह
वेस्‍टइंडीज के खिलाफ वर्ल्‍ड इलेवन से पांड्या बाहर, इस खिलाड़ी को मिली जगह

14 साल की उम्र में जाना रेप का मतलब
गंभीर ने टाइम्‍स ऑफ इंडिया में अपने लेख में लिखा, “मुझे 14 साल की उम्र में रेप शब्‍द का मतलब पता चला था। 1980 में आई फिल्‍म इंसाफ के तराजू में राज बब्‍बर ने रेपिस्‍ट का रोल किया था। ये फिल्‍म दो बहनो की कहानी पर आधारित है।” गंभीर ने कहा कि मेरी दो बेटियां हैं। एक की उम्र 11 साल और दूसरी बेटी की उम्र चार साल है। दो बेटियों का पिता होने पर मुझे गर्व है। उन्‍होंने आगे लिखा, ” मुझे ये सोचकर डर लगता है कि कहीं मेरी बेटियां मुझसे रेप शब्‍द का मतलब न पूछ लें। आज कल टीवी न्‍यूज, अखबार हर जगह रेप से संबंधित खबरें छपती हैं।”

सरकारी आंकड़ों का दिया हवाला

गौतम गंभीर ने सरकारी आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा, ” पिछले 10 सालों में महिलों के प्रति होने वाले यौन अपराधों में 336 प्रतिशत की वृद्ध हुई है। हाल ही में हुए कठुआ गैंग रेप के अलावा उन्‍नाव और निठारी कांड से सभी परिचित हैं। जरूरत है कि रेप में शामिल अपराधी को एक आतंकी से ज्‍यादा खतरनाक सजा दी जानी चाहिए।”