भारतीय क्रिकेट टीम से दरकिनार किए गए विस्‍फोटक ओपनर गौतम गंभीर इनदिनों इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की ओर से खेल रहे हैं हालांकि मौजूदा आईपीएल में वह कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके। गौतम दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स टीम के शुरुआती कुछ मैचों में कप्‍तान की भूमिका में थे लेकिन टीम के लचर प्रदर्शन के कारण उन्‍होंने टूर्नामेंट के बीच में ही कप्‍तानी छोड़ दी थी। बहुत कम लोगों को पता होगा कि आज केकेआर की टीम में जो एक खिलाड़ी स्‍टार बनकर उभरा है उसे गंभीर के कहने पर ही टीम मालिकों ने अपने साथ जोड़ा था।

पीटरसन को पटौदी लेक्‍चर के लिए चुने जाने पर बीसीसीआई सचिव नाराज
पीटरसन को पटौदी लेक्‍चर के लिए चुने जाने पर बीसीसीआई सचिव नाराज

मीडिया रिपोर्टो के मुताबिक गंभीर ने ही पांच साल पहले खिलाडि़यों की नीलामी में केकेआर के टीम मालिकों शाहरूख खान और वेंकी मैसूर को जोर देकर कहा था कि वेस्‍टइंडीज के मिस्‍ट्री बॉलर सुनील नरेन को कोलकाता के साथ जोड़ना चाहिए।

नरेन आज कोलकाता के स्‍टार खिलाड़ी हैं। वह गेंदबाजी के अलावा बल्‍लेबाजी में भी कमाल का प्रदर्शन कर रहे हैं। मौजूदा सत्र में नरेन ने 13 मैच खेले हैं और 15 विकेट अपने नाम कर चुके हैं। वह सबसे अधिक विकेट झटकने के मामले में इस समय छठे स्‍थान पर हैं। नरेन बल्‍लेबाजी में भी इतने ही मैच खेलकर 298 रन बना चुके हैं।

गंभीर अपनी कप्‍तानी में दो बार कोलकाता को आईपीएल चैंपियन बना चुके हैं। दिल्‍ली ने भी गंभीर को अपने साथ इसलिए जोड़ा था कि शायद उसकी भी किस्‍मत पलट जाए लेकिन इस सत्र में ऐसा कुछ हुआ नहीं। गंभीर को आईपीएल के मौजूदा सत्र में दिल्‍ली की ओर से 6 मैच खेलने को मिले जिसमें उन्‍होंने कुल 85 रन बनाए।