Harbhajan Singh helped ex-cricketer to save his life
Harbhajan Singh (File Photo) © AFP

भारतीय टीम में एक समय में स्पिन गेंदबाजी की कमान संभालने वाले हरभजन सिंह जितने अच्‍छे खिलाड़ी रहे हैं, असल जिंदगी में वो उतने ही अच्‍छे इंसान भी हैं। भज्‍जी अपने दोस्‍तों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। इन दिनों वो अपने क्रिकेट के शुरुआती दौर के दोस्‍त हरमन हैरी की मदद करने के कारण चर्चा में बने हुए हैं।

दूसरे T-20 में भी हारा बांग्लादेश, सीरीज में अफगानिस्तान को अजेय बढ़त
दूसरे T-20 में भी हारा बांग्लादेश, सीरीज में अफगानिस्तान को अजेय बढ़त

हरमन हैरी अंडर-16 क्रिकेट में पंजाब के लिए खेल चुका है। 90 के दशक के शुरुआती दौर में उन दिनों भज्‍जी भी अपने क्रिकेटिंग करियर में संघर्ष कर रहे थे। साल 1998 में भज्‍जी को पहली बार भारतीय टीम में खेलने का मौका मिला, जिसके बाद उन्‍होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। वहीं, हरमन हैरी का करियर ज्‍यादा आगे नहीं जा सका।

भज्‍जी ने कराया बीमार दोस्‍त का इलाज

भज्‍जी को उनके एक दोस्‍त ने जानकारी दी कि हरमन हैरी आंतों में गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। इलाज के लिए काफी खर्चा होगा, लेकिन उनके पास इलाज का खर्च उठाने के भी पैसे नहीं हैं। भज्‍जी ने इंडिया टुडे के कार्यक्रम में बताया कि हैरी ने किसी तरह मुझे फोन किया और मदद मांगी। मैंने उसे कहा कि दोस्‍त तुम अच्‍छे से अच्‍छे डॉक्‍टर से अपना इलाज कराओ। रुपयों की बिल्कुल भी परवाह मत करो। इंसान की जिंदगी से बड़ा और कुछ भी नहीं हो सकता है।

आज भज्‍जी का ये दोस्‍त एक दम स्‍वथ्‍य है और परिवार के साथ अपना जीवन बिता रहा है। हरमन हैरी का कहना था कि उसकी सारी सेविंग पिछले साल हुए इलाज में खर्च हो गई थी, आगे इलाज के लिए उसके पास बिल्‍कुल पैसे नहीं बचे थे। हरभजन ने सच्‍ची दो‍स्ती निभाई।