Harbhajan Singh supports MS Dhoni’s decision to replace him with Karn Sharma in the Final
Harbhajan Singh © IANS

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी दबाव भरे हालात में अपने चौंका देने वाले फैसलों के लिए जाने जाते हैं। कैप्टन कूल ने कई बड़े मैचों में ऐसे फैसले लिए हैं, जिनकी पहले तो आलोचना हुई है लेकिन बाद में नतीजे धोनी के पक्ष में ही गए। इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीजन के फाइनल मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान धोनी ने सभी को हैरान करते हुए हरभजन सिंह की जगह कर्ण शर्मा को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया था। अनुभवी हरभजन की जगह टूर्नामेंट में केवल 6 मैच खेलने वाले कर्ण को अहम फाइनल मैच में खिलाने का फैसला धोनी के खिलाफ भी जा सकता था लेकिन जैसा कि अक्सर होता है जीत कैप्टन कूल की ही हुई। कर्ण ने 3 ओवर में 25 रन देकर विपक्षी टीम के कप्तान केन विलियमसन का अहम विकेट झटका।

IPL 2018 FINAL: वॉटसन के शतक से चेन्‍नई ने तीसरी बार किया खिताब पर कब्‍जा
IPL 2018 FINAL: वॉटसन के शतक से चेन्‍नई ने तीसरी बार किया खिताब पर कब्‍जा

मैच के बाद जब हरभजन से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने भी कप्तान का ही साथ दिया। हरभजन ने कहा, “ये देखते हुए कि केन किस शानदार फॉर्म में है और उनके मध्य क्रम में कितने दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं, धोनी सही था कि उसे किसी ऐसे गेंदबाज की जरूरत है जो गेंद को बल्लेबाज से दूर ले जाए। हमने देखा है कि रिस्ट स्पिनर आईपीएल में फिंगर स्पिनर के मुकाबले ज्यादा ओवर करा रहे हैं लेकिन मुझे उम्मीद है कि अगले साल ये बदलेगा। कर्ण ने शानदार प्रदर्शन किया और मैं विजेता टीम में शामिल होकर खुश हूं।”

हरभजन ने मैनविनिंग शतक लगाने वाले शेन वाटसन की भी जमकर तारीफ की। भज्जी ने कहा, “लाजवाब, जिस तरह से हमने लक्ष्य का पीछा किया। वाटसन के रहने से टीम में ताकत आती है, आप कितने भी रन बनाओ, उसे हमेशा चेस किया जा सकता है। ये मेरा चौथा आईपीएल खिताब है और मैं बेहद खुश हूं।” हरभजन मुंबई इंडियंस के साथ तीन बार आईपीएल ट्रॉफी जीत चुके हैं।