Harmanpreet Kaur denies fake degree allegations; Says she has not received any official communication from Punjab police
Harmanpreet Kaur © Getty Images

भारतीय टी20 महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने आखिरकार फर्जी डिग्री मामले पर चुप्पी तोड़ी है। हरमनप्रीत कौर ने सभी आरोपों को झूठा बताया है। उनका कहना है कि उनकी डिग्री एकदम सही है।

दरअसल पंजाब पुलिस में डीएसपी पद पर तैनात हरमनप्रीत की डिग्री में गड़बड़ी मिलने पर उन्हें डीएसपी से कॉन्सटेबल पद पर डिमोट करने की चर्चा की जा रही है। पंजाब पुलिस के मुताबिक हरमनप्रीत कौर का इनरोलमेंट नंबर यूनिवर्सिटी के रिकॉर्ड में है ही नहीं।

वनडे में शानदार प्रदर्शन के बाद टेस्ट टीम में शामिल होना चाहते हैं कुलदीप
वनडे में शानदार प्रदर्शन के बाद टेस्ट टीम में शामिल होना चाहते हैं कुलदीप

इन आरोपों के जवाब में टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए हरमन ने कहा, “मैने सारी परीक्षाएं पास की है और मेरे सारे सर्टिफिकेट असली है। मेरा परीक्षा केंद्र दिल्ली में था। मेरे विषय समाजशास्त्र, राजनीति विज्ञान, अंग्रेजी और सामान्य जागरूकता थे। जब आप ग्रेजुएशन पूरा करते हैं तो क्या आप यूनिवर्सिटी जाकर अपना इनरोलमेंट नंबर चेक करते हो। कोई भी ऐसा नहीं करता है। अगर में खेल रही हूं तो जाहिर है कि मेरा ध्यान क्रिकेट पर था। इसके अलावा मैं केवल अपना ग्रेजुएशन पूरा करना चाहती थी।”

हरमन ने बताया कि उन्होंने पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स में भी एडमिशन लिया था लेकिन क्रिकेट में बिजी रहने की वजह से वो डिग्री पूरी नहीं कर सकी। उन्होंने कहा, “अपनी ग्रेजुएशन डिग्री से ही मैने दूसरी यूनिवर्सिटी में पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स में एडमिशन लिया था लेकिन विदेशी टूर्नामेंट के चलते मैं पढ़ाई पूरी नहीं कर सकी। आज मेरी उसी डिग्री को झूठा बताया जा रहा है।”

हरमनप्रीत को डीएसपी पद से हटाए जाने की खबर सुर्खियों में जरूर है लेकिन भारतीय कप्तान का कहना है कि उन्हें कोई सूचना नहीं मिली है। हरमनप्रीत ने बताया, “डिपार्टमेंट को मेरे खिलाफ एक्शन लेना चाहिए था। मैं डिपार्टमेंट की ओर से खबर मिलने का इंतजार कर रही हूं। मुझे अब तक कोई नोटिस नहीं मिला है।”