© Getty Images
© Getty Images

वनडे क्रिकेट के नंबर 1 गेंदबाज पाकिस्तान के हसन अली को हाल ही में बांग्लादेश प्रीमियर लीग के एक मैच के दौरान अस्थमा का दौरा पड़ गया था। इसके फौरन बाद वह मैदान से बाहर आ गए। इस दौरान उन्हें दवाइयां दी गईं और वह एक बार फिर से मैदान में अपने मुंह पर मास्क बांधकर उतरे। इस दौरान हसन अली कॉमिला विक्टोरियंस की ओर से फील्डिंग कर रहे थे।

यह मैच सिलहट सिक्सर्स के खिलाफ शेरे बांग्लादेश स्टेडियम, मीरपुर में खेला गया। आखिरकार, हसन अली की टीम कॉमिला ने मैच में 25 रनों से जीत दर्ज की और वे इस तरह से प्वाइंट टेबल में टॉप पर पहुंचते हुए नॉकआउट में पहुंच गए हैं। इसके अलावा हसन अली ने मैच में 35 रन देकर 2 विकेट झटके।

यह पहला मौका नहीं है जब कोई खिलाड़ी मैदान मास्क पहनकर खेलते नजर आया हो बल्कि इसी हफ्ते भारत के खिलाफ दिल्ली टेस्ट में श्रीलंका टीम के खिलाड़ी मैदान में मास्क पहनकर उतरे थे। उन्होंने इस दौरान खराब हवा की शिकायत की थी। हालांकि, बांग्लादेश प्रीमियर लीग में मामला दूसरा था क्योंकि यहां हसन अली ने प्रदूषण की वजह से नहीं बल्कि अस्थमा का दौरा पड़ने के कारण मास्क पहना था।

मीरपुर का वातावरण दिल्ली के मुकाबले काफी अच्छा है। पिछले हफ्ते दिल्ली टेस्ट में प्रदूषण की वजह से श्रीलंका टीम के कई खिलाड़ियों ने मैदान में ही उल्टी की थी। वहीं तेज गेंदबाज लाहिरू गमागे और सुरंगा लकमल को तो मैदान से बाहर जाना पड़ा था। आलम ये था कि एक समय श्रीलंका टीम के पास फील्डिंग करने के लिए सिर्फ 10 खिलाड़ी बचे थे।

खराब हवा की वजह से सभी श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने मास्क पहन लिए थे और कुछ देर के लिए मैच भी रोक दिया था। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में यह पहला मौका रहा जब कोई मैच धुंध औ खराब हवा के कारण रुका।