भुवनेश्वर कुमार © AFP
भुवनेश्वर कुमार © AFP

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में विकेटों के सूखे से गुजर रहे भुवनेश्वर कुमार ने आखिरी मैच में अपना दमखम दिखाया और शानदार प्रदर्शन किया। भुवनेश्वर ने मैच में 42 रन देकर 5 विकेट झटके और उन्हें बेहतरीन खेल के लिए मैन ऑफ द मैच का खिताब भी दिया गया। शानदार प्रदर्शन के बाद भुवनेश्वर ने माना कि भले ही उन्हें सीरीज के शुरुआती मैचों में विकेट ना मिले हों लेकिन उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की। भुवनेश्वर ने कहा, ”मुझे शुरुआती मैचों में विकेट नहीं मिल रहे थे हालांकि मैं अच्छी गेंदबाजी कर रहा था। आखिरी मैच में मैंने जिस तरह की गेंदबाजी की उससे मैं काफी खुश हूं।”

भुवनेश्वर ने आगे कहा, ”हमें उनकी कमजोरियों का पता था। वो धीमी गेंदों को सही से नहीं खेल पा रहे थे और ये सीरीज के लगभग हर मैच में देखने को मिला था। मैं कुछ भी साबित नहीं करना चाहता। मैं हर मौके को भुनाना चाहता हूं। मैं चाहता हूं कि जब भी मुझे मौका मिले मैं अपना सर्वश्रेष्ठ दे सकूं। मैं अपनी टीम के लिए शानदार खेल दिखाना चाहता हूं। टीम के लिए अच्छा करने में बेहद खुशी होती है और आपके प्रदर्शन से अगर टीम को जीत मिलती है तो इससे अच्छा कुछ नहीं हो सकता।” ये भी पढ़ें: सीरीज जीतने के बाद टीम इंडिया ने मैदान पर की ‘ऑटो’ की सवारी, महेंद्र सिंह धोनी बने ‘ड्राइवर’

श्रीलंका के खिलाफ शुरुआती 4 मैचों में भुवनेश्वर कुमार कुछ खास नहीं कर सके थे और उन्हें शुरुआती 4 मैचों में कोई भी विकेट हासिल नहीं हो सका था। हालांकि आखिरी मैच में उन्होंने अपना दमखम दिखाया और वनडे करियर में पहली बार 5 विकेट लेने में कामयाबी हासिल की। भारत ने टेस्ट सीरीज के बाद टीम इंडिया ने 5 मैचों की वनडे सीरीज में भी श्रीलंका का सूपड़ा साफ कर दिया और सीरीज को 5-0 से अपने नाम कर लिया। जसप्रीत बुमराह को उनके शानदार खेल के लिए मैन ऑफ द सीरीज का खिताब दिया गया। बुमराह ने सीरीज में 15 विकेट हासिल किए।