I have nothing to prove in England: Virat Kohli
Virat Kohli speaking in the press conference

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि वह इंग्लैंड के 2014 दौरे की विफलता से परेशान नहीं है और उन्हें किसी देश में खुद को साबित नहीं करना। कोहली 2014 में पांच टेस्ट की सीरीज में 134 रन ही बना सका था जिसे भारत ने लार्ड्स में बढ़त बनाने के बावजूद 1-3 से गंवाया था।

मैं कोहली की आंख में भूख और आग देखता : सचिन तेंदुलकर
मैं कोहली की आंख में भूख और आग देखता : सचिन तेंदुलकर

कोहली ने कहा, ‘‘पहले जब मैं इन चीजों को बेहतर नहीं जानता था तब ये चीजें मुझे परेशान करती थी क्योंकि मैं काफी पढ़ा करता था। लेकिन ईमानदारी से कहूं और यह मैं आप लोगों के सामने बैठे होने के कारण नहीं कह रहा- मैं वास्तव में कुछ नहीं पढ़ता। मुझे कुछ नहीं पता कि क्या हो रहा है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘दक्षिण अफ्रीका में पहले दो टेस्ट के बाद मुझे नहीं पता कि क्या चल रहा है। मेरा ध्यान पूरी तरह से अपनी तैयारी पर है और टीम पर है। अगर मैं अपनी ऊर्जा इन चीजों पर व्यर्थ कर दूंगा तो मैं अपनी मनोस्थिति के साथ समझौता करूंगा।’’

पढें:- धवन या केएल राहुल कौन करेगा ओपनिंग, कोहली ने दिया जवाब

कोहली ने कहा, ‘‘मुझे सबसे अधिक आश्वस्त और मानसिक रूप से स्पष्ट होने की जरूरत है और यह तभी होगा जब मैं उस पर ध्यान लगाऊंगा जिस पर लगाने की जरूरत है। जल्द ही मैं 10 साल पूरे करने वाला हूं। 10 साल पहले मैंने नहीं सोचा था कि मैं अपने करियर में यहां पहुंचूंगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए मुझे कोई शिकायत नहीं है और मैं इस मनोस्थिति में नहीं हूं कि मुझे किसी देश में खुद को साबित करने की जरूरत है। मैं सिर्फ टीम के लिए प्रदर्शन करना चाहता हूं और रन बनाना चाहता हूं और भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाना चाहता हूं। यही मेरा एकमात्र इरादा है।’’