I treat finals as any other match: Fakhar Zaman
Fakhar zaman © Getty images (file image)

पाकिस्‍तान ने हाल में जिम्‍बाब्‍वे में आयोजित टी-20 ट्राई सीरीज के फाइनल में ऑस्‍ट्रेलिया को हराकर खिताब अपने नाम किया था। सरफराज अहमद की कप्‍तानी वाली पाक टीम को चैंपियन बनाने में जिस खिलाड़ी ने अहम रोल अदा किया वो हैं ओपनर फखर जमां। फखर ने खिताबी मुकाबले में लाजवाब पारी खेली।

इस ऑस्‍ट्रेलियाई दिग्‍गज ने 'चाइनामैन' गेंदबाज कुलदीप को बताया ट्रंप कार्ड
इस ऑस्‍ट्रेलियाई दिग्‍गज ने 'चाइनामैन' गेंदबाज कुलदीप को बताया ट्रंप कार्ड

बाएं हाथ के फखर ने फाइनल में 91 रन की शानदार पारी खेली। उन्‍होंने बड़े मैचों में अपनी सफलता के राज का खुलासा किया है। यह पहला मौका नहीं था जब फखर ने किसी फाइनल में बड़ा स्‍कोर बनाया हो बल्कि इससे पहले उन्‍होंने पिछले वर्ष चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत के खिलाफ भी सेंचुरी जड़ी थी।

वेबसाइट क्रिकबज से बातचीत में 28 साल के फखर ने बड़े मैचों में अपनी सफलता के राज के बारे में बातचीत की। उन्‍होंने कहा, ‘ ईमानदारी से कहूं तो मैं फाइनल मैचों को अन्‍य गेम की तरह लेता हूं। मैंने घरेलू क्रिकेट के फाइनल में भी बहुत रन बनाए हैं। मैं क्रीज पर थोड़ा अधिक समय लेता हूं और मुझे लगता है कि यही सफलता का कारण है।’

ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 ट्राई सीरीज के फाइनल को याद करते हुए फखर ने कहा, ‘ जब हमने दो विकेट गंवा दिए थे उसके बाद मेरे पास एक ही विकल्‍प था कि मैं क्रीज पर समय बिताउं और जहां तक संभव हो हम अब विकेट न गवाएं।’