ICC rates Chittagong pitch ‘below average’

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच खेले गए पहले टेस्ट के वेन्यू चटगांव के जहुर अहमद चौधरी स्टेडियम की पिच को दोयम दर्ज का बताया है। इसी के चलते इस स्टेडियम के हिस्से एक नकारात्मक अंक जुड़ गया है जो इसके साथ पांच साल तक रहेगा। आईसीसी के नियमों के अनुसार, अगर किसी मैच वेन्यू को कुल पांच नकारात्मक अंकद दिए जाते हैं तो वो 12 महीनों तक अंतर्राष्ट्रीय मैचों की मेजबानी नहीं कर सकता। इस पिच पर दोनों टीमों ने रनों की बारिश की थी। बांग्लादेश के मोमिनुल हक ने दोनों पारियों में शतक जड़ा था, इस मैच दोनों टीमों ने कुल 1,533 रन बनाए थे।

टीम इंडिया कहीं भी जीत सकती है: शिखर धवन
टीम इंडिया कहीं भी जीत सकती है: शिखर धवन

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने मैच रेफरी डेविड बून के हवाले से लिखा है, “इस पिच में तेज गेंदबाजों के लिए नई गेंद से बिल्कुल मदद नहीं थी। साथ ही पूरे मैच के दौरान पिच पर उछाल नहीं था। पिच में कभी-कभी स्पिनरों के लिए मदद थी, लेकिन ये पिच उतनी नहीं टूटी जितनी उम्मीद थी। इस पिच ने पूरे पांच दिन बल्लेबाजों का साथ दिया।”

मैच के बाद श्रीलंका के दिमुथ करुणारत्ने और बांग्लादेश के कप्तान महमदुल्लाह के पिच को लेकर अलग बयान थे। श्रीलंकाई बल्लेबाज ने कहा था कि यह पिच अच्छी नहीं है क्योंकि इसमें गेंदबाजों के लिए कुछ नहीं है जबकि महामदुल्लाह ने कहा था कि यह पिच अच्छी है क्योंकि इस पर दोनों टीमों के बल्लेबाज रन बना सकते हैं। इस मैच में गेंदबाजों ने कुल 2000 गेंदें फेंकी और सिर्फ 24 विकेट गिरे।