ICC reveals four international captains approached Anti Corruption Unit between 2017-18

आईसीसी ने हाल ही में खुलासा किया है कि एक जून 2017 से 31 मई 2018 के बीच चार अंतर्राष्ट्रीय कप्तानों ने उसकी एंटी करप्शन यूनिट से संपर्क किया है। आईसीसी ने सालाना रिपोर्ट में इस बात का जिक्र है कि उन्होंने जून 2017 और मई 2018 के बीच 18 जांच की, जिनमें से 17 पिछले साल 1 सितंबर को एसीयू महाप्रबंधक एलेक्स मार्शल के आने के बाद लॉन्च किए गई थी।

ऑस्ट्रेलिया से एशेज हार का बदला लेने को तैयार है इंग्लैंड
ऑस्ट्रेलिया से एशेज हार का बदला लेने को तैयार है इंग्लैंड

आईसीसी रिपोर्ट के मुतबाकि, “संदिग्ध गतिविधि की रिपोर्ट करने के साथ एसीयू से संपर्क करने में विश्वास रखने वाले खिलाड़ियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। चार अंतरराष्ट्रीय कप्तानों ने 2017-18 के दौरान संदिग्ध घटनाओं की सूचना दी और प्रत्येक एवेन्यू की जांच की गई।”

18 जांचों में से पांच का फैसला हो चुका है, जबकि चार मामलों में आरोप साबित किए गए हैं। रिपोर्ट के हवाले से कहा गया, “पांच मामले ऐसे थे, जहां उन लोगों पर आरोप थे जो क्रिकेट में सीधे शामिल नहीं होते हैं और 13 जांचें अभी चल रही थीं। दो जांच मीडिया स्टिंग ऑपरेशन थीं, जबकि एक जांच में एक ग्राउंडसमैन और कुछ खिलाड़ियों का नाम सामने आया। बाकी जांचे चल रही हैं।”

लगातार बढ़ती टी20 लीगों से आईसीसी का भ्रष्टाचार रोकने का काम और मुश्किल होता जा रहा है। रिपोर्ट में इसका जिक्र भी किया गया, “इन लीगों की रेंज एंटी करप्शन नियमों को पूरी तरह से मानने से लेकर केवल करप्शन के इरादे से आयोजित किए जाने तक जाती है। इसका सबसे ताजा उदाहरण साल की शुरुआज में यूएई में आयोजित हुई अजमान ऑल स्टार्स लीग है। आगे हमारी योजना दुनिया भर में सभी नई टी20 लीगों को कवर करने के लिए भ्रष्टाचार विरोधी मामलों में न्यूनतम मानकों को निर्धारित करना है क्योंकि उन सभी मैचों में व्यक्तिगत रूप से जांच करना संभव नहीं है।”