IND VS ENG 1st Test : mohammed shami says love for cricket helped him fight off-field   problems.
mohammed shami © PTI

इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में जारी पहले टेस्ट में अच्छी वापसी करने वाले भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने कहा है कि क्रिकेट के प्रति जुनून की बदौलत ही वह कुछ महीने पहले मैदान की बाहर की समस्याओं से उबरने में सफल रहे।

काउंटी में खेलने और अपने एक्शन को सरल करने से मदद मिली: अश्विन
काउंटी में खेलने और अपने एक्शन को सरल करने से मदद मिली: अश्विन

पहले टेस्ट के शुरुआती दिन शमी ने 64 रन देकर दो विकेट चटकाए जबकि ऑफ स्पिनर आर अश्विन ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 60 रन देकर 4 खिलाड़ियों को आउट किया जिससे इंग्लैंड का स्कोर नौ विकेट पर 285 रन हो गया था।

28 वर्षीय शमी पर कुछ महीने पहले उनकी पत्नी ने घरेलू हिंसा का आरोप लगाया था। उन्हें एक दुर्घटना में कुछ चोटें भी लगी थी जिसके बाद वो यो-यो फिटनेस परीक्षण पास करने में असफल रहे और अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच में नहीं खेल पाए थे।

शमी ने कहा, ‘ दक्षिण अफ्रीका का दौरा काफी समय पहले हुआ था और फिर मैदान के बाहर भी कुछ मुद्दे थे। मुझे इन सबसे भी जूझना पड़ा लेकिन मेरा प्रयास यही रहा कि मुझे जो सबसे ज्यादा पसंद है और जो मेरे लिए सबसे ज्यादा अहम है, उसे करते रहना होगा।’

‘मैं क्रिकेट में बेस्‍ट देना चाहता था’

शमी ने कहा, मैं अपना काम जारी रखना चाहता था। मेरे सामने कितनी भी मुश्किलें आईं, मैं सिर्फ क्रिकेट में अपना सर्वश्रेष्ठ करना चाहता था। इसका नतीजा आपके सामने है।’

शमी दक्षिण अफ्रीका से मिली 1-2 की हार में 15 विकेट से सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले खिलाड़ी रहे। उन्होंने कहा, ‘ गेंदबाजी इकाई के तौर पर और मैं खुद भी आज बहुत खुश हूं। मैंने इस चीज के लिए काफी कड़ी मेहनत की है।’

‘इसलिए आज मैं बहुत खुश हूं

शमी ने कहा, ‘ जीवन में और आपके परिवार में उतार-चढ़ाव तो होता ही रहता है। लेकिन देश की तरफ से खेलने में आपके ऊपर जिम्मेदारी होती है और जब आप अपना काम अच्छी तरह करते हो मुझे लगता है कि यह सर्वश्रेष्ठ चीज होती है। इसलिए मैं आज बहुत खुश हूं।’