IND VS ENG : I’ve never seen the kind of intent that Virat Kohli showed in the 1st Test
Harbhajan singh © IANS

टीम इंडिया से दरकिनार किए गए ऑफ स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह  ने कप्‍तान विराट कोहली की बर्मिंघम टेस्‍ट में खेली गई शानदार पारी की जमकर सराहना की है। हरभजन ने कहा है कि कोहली में 10 साल पहले भी रन बनाने की ऐसी ही भूख थी।

अश्विन ने किया बल्‍लेबाजों का बचाव, बोले- बैटिंग के लिए मुश्किल पिच थी
अश्विन ने किया बल्‍लेबाजों का बचाव, बोले- बैटिंग के लिए मुश्किल पिच थी

कोहली ने पहली पारी में 149 रन बनाए थे जबकि दूसरी पारी में उन्‍होंने 51 रन की पारी खेली। भारतीय कप्‍तान की इस शानदार पारी की बदौलत टीम 274 रन बनाने में सफल रही। दूसरी पारी में टीम इंडिया 162 रन पर ढेर हो गई और 31 रन से पहला टेस्‍ट गंवा बैठी।

हरभजन ने बीसीसीआई डॉट टीवी से एक किस्‍से का जिक्र करते हुए बताया कि किस तरह राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली जैसे बड़े-बड़े महान खिलाडि़यों के फेल होने के बाद विराट ने खुद पर ये दारोमदार लिया था।

हरभजन ने वर्ष 2008 के श्रीलंका दौरे का जिक्र करते हुए कहा, ‘ मुझे याद है कि उस टेस्ट में श्रीलंका के खिलाफ राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली जैसे बड़े-बड़े महान खिलाड़ी स्पिनर अजंता मेंडिस की फिरकी गेंदो के समझने में फेल हो गए थे। जिसके बाद अपना पहला दौरा (वनडे सीरीज़ में) खेलने आए विराट ने मुझसे कहा कि पाजी मैं जाउंगा मैं करूंगा और फिर विराट ने उस सीरीज़ में अर्धशतक भी जमाया था।’

टर्बनेटर के नाम से पॉपुलर हरभजन ने उनकी एजबेस्टन में खेली शतकीय पारी के बारे में कहा कि ”ये विराट की भूख ही है जो उन्होंने एजबेस्टन में इतनी शानदार पारी खेली। मैने पहले ऐसी पारी नहीं देखी।’