टीम इंडिया का मोहाली में जबर्दस्त प्रदर्शन, साभार-पीटीआई
टीम इंडिया का मोहाली में जबर्दस्त प्रदर्शन, साभार-पीटीआई

धर्मशाला में मिली शर्मनाक हार का बदला टीम इंडिया ने आखिरकार मोहाली में ले ही लिया। भारतीय टीम ने 3 मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मुकाबले में श्रीलंका को मात दी। टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 4 विकेट पर 392 रन बनाए, जिसे श्रीलंकाई टीम हासिल नहीं कर सकी। टीम इंडिया की इस जीत के साथ ही सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है और अब सीरीज के विजेता का फैसला विशाखापट्टनम में 17 दिसंबर को होगा।

कैसे जीती टीम इंडिया?
टीम इंडिया की जीत की स्क्रिप्ट लिखी कप्तान रोहित शर्मा ने, जिन्होंने मोहाली के मैदान पर रिकॉर्ड तोड़ दोहरा शतक जड़ा। रोहित शर्मा ने वनडे करियर का तीसरा दोहरा शतक जमाते हुए सिर्फ 153 गेंदों में 208 रनों की पारी खेली। अपनी इस पारी में रोहित शर्मा ने 12 छक्के और 13 चौके लगाए। रोहित शर्मा के अलावा अपना दूसरा वनडे खेल रहे श्रेयस अय्यर ने 70 गेंदों में 88 रन बनाए। जबकि पिछले मैच में शून्य पर पैवेलियन लौटने वाले शिखर धवन ने 68 रन बनाए। तेजी से रन बनाने के फेर में एम एस धोनी 7 और हार्दिक पांड्या 8 रन बनाकर आउट हुए। टीम इंडिया ने 50 ओवर में 392 रन बनाए। श्रीलंका के तेज गेंदबाजों की बड़ी धुनाई है। नुआन प्रदीप ने तो 10 ओवर में 106 रन दे डाले। सुरंगा लकमल ने 71 और थिसारा परेरा ने 80 रन लुटाए।

रोहित शर्मा के दोहरे शतक के बाद उड़े वीरेंद्र सहवाग के 'होश', कर दी बड़ी गलती!
रोहित शर्मा के दोहरे शतक के बाद उड़े वीरेंद्र सहवाग के 'होश', कर दी बड़ी गलती!

भारतीय गेंदबाजों का अच्छा प्रदर्शन
टीम इंडिया के विशाल स्कोर के आगे श्रीलंकाई बल्लेबाजी दबाव में और पस्त होती दिखाई दी। श्रीलंका ने पहले 10 ओवर में उपुल थरंगा और दनुष्का गुनातिलका का विकेट गंवा दिया। लाहिरु थिरिमने ने 21 और निरोशन डिकवेला भी 22 रनों पर पैवेलियन लौट गए। असेला गुणारत्ने ने मैथ्यूज के साथ तेजी से रन बनाने की कोशिश की लेकिन उनकी ये कोशिश 31वें ओवर में युजवेंद्र चहल ने खत्म कर दी। गुणारत्ने 34 रन बनाकर पैवेलियन लौटे। इसके बाद कप्तान थिसारा परेरा भी 5 और सचित्रा पथिराना भी 2 रन बना पाए। पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने जरूर शतकीय पारी खेली और साथ ही उन्होंने वनडे में अपने 5 हजार रन भी पूरे किए, लेकिन उनकी ये पारी श्रीलंका को बड़ी हार से बचा नहीं सकी।