India did not achieve anything by playing against Sri Lanka, says Harbhajan Singh
हरभजन सिंह © PTI

भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कड़े दौरे से पहले भारतीय टीम को श्रीलंका  के खिलाफ घरेलू सीरीज खेलकर बहुत कम फायदा हुआ है। भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले ही टेस्ट सीरीज गंवा चुकी है और टीम पर क्लीन स्वीप का खतरा मंडरा रहा है। हरभजन ने इस बारे में कहा, ‘‘देखिए मुझे लगता है कि श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज से हमें बहुत कम फायदा हुआ है। हमें शायद ही उससे कुछ मिला। इससे अच्छा ये होता कि कुछ भारतीय खिलाड़ी पहले ही दक्षिण अफ्रीका चले जाते। अगर दक्षिण अफ्रीका नहीं तो तैयारियों के लिए धर्मशाला भी सही जगह है।’’

उन्होंने सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट के दौरान पीटीआई से कहा, ‘‘दक्षिण अफ्रीका के मुश्किल दौरे से पहले धर्मशाला की ऊंचाई और ठंडे मौसम के साथ वहां तेजी और उछाल के बीच तैयारी करना अनुकूल होता।’’ टेस्ट टीम में अजिंक्य रहाणे को जगह नहीं मिलने पर उठ रहे सवालों पर हरभजन ने कहा कि इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि अगर रहाणे खेलते तो नतीजा कुछ और होता।

तीसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया को 16 रनों से हराकर इंग्लैंड ने वनडे सीरीज पर कब्जा किया
तीसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया को 16 रनों से हराकर इंग्लैंड ने वनडे सीरीज पर कब्जा किया

हरभजन ने कहा, ‘‘मैं कुछ आंकड़े देख रहा था। विराट कोहली की कप्तानी में अजिंक्य का औसत 30 टेस्ट मैच में 40 से कम है। इसके साथ ही पिछले एक साल से उन्होंने बहुत ज्यादा रन नहीं बनाए है। अगर रहाणे खेलते और भारतीय टीम 0-2 से पीछे होती तो हम कहते की रोहित को टीम में ले आओ। हमें कप्तान के दृष्टिकोण को समझना होगा।’’ हरभजन ने कहा कि रहाणे के टीम में रहने, ना रहने पर अलग अलग राय हो सकती है लेकिन भुवनेश्वर को टीम में होना चाहिए था।

उन्होंने कहा, ‘‘आज के दौर में भुवनेश्वर इशांत की तुलना में बड़े मैच विजेता है। भुवी ने जब भी अच्छा प्रदर्शन किया, भारतीय टीम ने भी अच्छा किया है। मुझे अब भी उम्मीद नहीं है कि सबकुछ खत्म नहीं हुआ है। जोहान्सबर्ग में हम वापसी कर सीरीज को 2-1 कर सकते हैं। मैं टीम को सकारात्मक रहने की सलाह दूंगा। अब हमारे पास खोने के लिए कुछ नहीं और सबकुछ पाने के लिये है। इसलिये मुझे लगता है उन्हें जीत के लिए जाना चाहिये।’’