© AFP (File Photo)
© AFP (File Photo)

श्रीलंका क्रिकेट ने अगले घरेलू सीजन के लिए आधिकारिक रूप से टी20 त्रिकोणीय सीरीज की घोषणा कर दी है। अन्य दो टीमें जो इस टूर्नामेंट होंगी वो बांग्लादेश और भारत होंगी। हालिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस सीरीज में 7 मैच खेले जाएंगे। इसका मतलब है कि फाइनल के पहले हर टीम एक दूसरे से दो-दो मैच खेलेगी। यह सीरीज मार्च 8 से शुरू होगी। सीरीज का फाइनल 20 मार्च को खेला जाएगा। इस हिसाब से ये मिनी एशिया कप है जिसमें एशिया की दो बड़े टीमें पाकिस्तान और अफगानिस्तान ही नहीं खेल रही हैं। आखिरी बार ये तीनों टीमें किसी टी20 सीरीज में एक साथ साल 2016 वर्ल्ड टी20 में खेली थीं। यह टूर्नामेंट भारत में आयोजित किया गया था।

इसके कुछ महीने पहले, 2016 की शुरुआत में ये तीनों टीमें एशिया कप 2016 में भी खेली थीं। दिलचस्प बात ये रही कि इन दोनों टूर्नामेंटों में टीम इंडिया सबसे ज्यादा सफल रही थी। टीम इंडिया ने पहले एशिया कप जीता और बाद में वर्ल्ड टी20 के सेमीफाइनल में जगह बनाई। इस त्रिकोणीय सीरीज का नाम निदहास ट्रॉफी रखा गया है जो साल 1998 में भी खेली गई थी। ये श्रीलंका की स्वतंत्रता की 50वीं वर्षगांठ पर आयोजित की जा रही है।

इस सीरीज के कार्यक्रम जल्दी ही घोषित किया जाएगा। सीरीज श्रीलंका के 70 साल के स्वतंत्रता के जश्न का हिस्सा होगी। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के प्रेसीडेंट थिलन सुमतिपाला ने कहा, “70 साल एक लंबी यात्रा है, जिसे याद रखने और जश्न मनाने की जरूरत होती है। हमें खुशी है कि हमारे करीबी पड़ोसी जो इसी यात्रा को हमारे साथ साझा करते हैं वो हमारे साथ इस जश्न में शामिल हो रहे हैं, हम सोचते हैं कि यह क्रिकेट के इतिहास में एक मील का पत्थर है और अच्छी चीजों के होने का शुभ संकेत है।”

देश के लिए खेलने का कोई मौका नहीं छोड़ेंगे विराट कोहली: आर श्रीधर
देश के लिए खेलने का कोई मौका नहीं छोड़ेंगे विराट कोहली: आर श्रीधर

बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी ने इस जश्न का हिस्सा बनने को लेकर अपनी खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा कि उन्हें जैसे ही न्यौता मिला उन्हें उसे स्वीकार करने में कोई हिचकिचाहट नहीं हुई।