© Getty Images
© Getty Images

एम एस धोनी को क्रिकेट की दुनिया का सबसे समझदार क्रिकेटर माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि एम एस धोनी के फैसला कभी खराब नहीं जाता खासकर जब वो फैसला डीआरएस को लेकर हो। इसीलिए डीआरएस को धोनी के फैंस धोनी रिव्यू सिस्टम भी कहते हैं, लेकिन गुवाहाटी टी20 में धोनी रिव्यू सिस्टम फेल हो गया। दरअसल मैच के 5वें ओवर में भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर मोसेस हेनरीके के बल्ले का किनारा लगा। स्लिप पर खड़े विराट कोहली ने अपील भी की, लेकिन धोनी ने अपील नहीं की।


विराट कोहली ने धोनी से डीआरएस लेने के बारे में पूछा लेकिन उन्होंने इसके लिए इनकार कर दिया। धोनी के मुताबिक गेंद ने बल्ले का किनार नहीं लिया था। मगर कुछ देर बाद स्निको मीटर दिखाया गया तो तस्वीर कुछ और ही दिखाई दी। स्निकोमीटर के मुताबिक गेंद ने बल्ले का हल्का सा किनारा लिया था। धोनी का डीआरएस ना लेना टीम इंडिया को खासा भारी पड़ गया। मोसेस हेनरीके ने जीवनदान मिलने के बाद जबर्दस्त बल्लेबाजी की। उन्होंने ट्रेविस हेड के साथ मैच जिताऊ शतकीय साझेदारी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को खराब शुरुआत से उबारा।  एडम जंपा के जाल में फंसे एम एस धोनी, ऐसे लिया विकेट: वीडियो

हेनरीके ने शानदार अर्धशतक लगाया और नाबाद 62 रन बनाए। ट्रेविस हेड ने भी नाबाद 48 रन की पारी खेली। दोनों बल्लेबाजों के बीच 109 रनों की साझेदारी हुई। इन दोनों बल्लेबाजों ने 15.3 ओवर में ऑस्ट्रेलिया को जीत दिला दी। इस जीत के साथ ही टी20 सीरीज 1-1 से बराबर हो गई। टी20 सीरीज का आखिरी मैच अब हैदराबाद में होगा जहां शुक्रवार को सीरीज के विजेता का फैसला होगा।