चेतेश्वर पुजारा  © AFP
चेतेश्वर पुजारा © AFP

चेतेश्वर पुजारा ने वैसे तो तीसरे टेस्ट के चौथे दिन बेहतरीन बल्लेबाजी की और शानदार अंदाज में 150 रन पूरे किए। लेकिन इस दौरान एक मौका आया जिसने मैदान में बैठे हर किसी को कुछ क्षण के लिए आवाक छोड़ दिया। ये बात भारतीय पारी के 140वें ओवर की है। गेंदबाजी के कर रहे थे जोश हेजलवुड और बल्लेबाजी कर रहे थे चेतेश्वर पुजारा। हेजलवुड ने ओवर की चौथी गेंद पुजारा को बाउंसर मारी। लेग स्टंप से हल्की सी बाहर इस गेंद को पुजारा ने हुक करने की केशिश की। लेकिन गेंद और बल्ले के बीच कोई संपर्क नहीं हुआ और विकेटकीपर मैथ्यू वेड ने गेंद को कैच कर लिया।

चूंकि, हेजलवुड और वेड को नहीं लगा कि गेंद, बल्ले का बाहरी किनारा लेती हुई विकेटकीपर के दस्तानों में समाई है। इसलिए अपील नहीं की गई। लेकिन अंपायर क्रिस जफाने ने इसी बीच आउट करार देने के लिए अंगुली उठाने लगे लेकिन इसी बीच उन्हें जब याद आया कि किसी ने अपील तो की नहीं है। इसलिए उन्होंने अपनी गलती छुपाने के लिए उठने वाली अंगुली को टोपी के पीछे छिपा लिया। इसके बाद गूफी के चेहरे पर एक भीनी सी मुस्कान बिखर गई और उन्होंने इशारा किया कि ये दूसरी गेंद बाउंसर है। [भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, तीसरा क्रिकेट टेस्ट मैच, लाइव स्कोरकार्ड जानने के लिए क्लिक करें...]

खबर लिखे जाने तक तीसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन लंच तक भारत का स्कोर 435/6 हो गया है, क्रीज पर चेतेश्वर पुजारा (164) और रिद्धिमान साहा (59) रन बनाकर टिके हुए हैं। भारत अभी भी पहली पारी के आधार पर ऑस्ट्रेलिया से 16 रन पीछे है। लंच तक ऑस्ट्रेलिया का कोई भी गेंदबाज इन दोनों की जोड़ी को तोड़ नहीं सका और दोनों के बीच अब तक (107) रनों की साझेदारी हो चुकी है। हालांकि शुरुआत में पेट कमिंस की गेंद पर साहा को LBW आउट करार दे दिया गया था, लेकिन साहा ने पुजारा से पूछकर रिव्यू लेने का फैसला किया और रिव्यू में उन्हें नॉट आउट बताया गया। इसके बाद दोनों ही बल्लेबाजों ने कोई गलती नहीं की और भारत के स्कोर को लगातार आगे बढ़ाते रहे। इसी बीच पुजारा ने अपने 150 रन भी पूरे कर लिए। वहीं दूसरे छोर पर टिककर खेल रहे साहा ने शानदार बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश करते हुए अपना अर्धशतक पूरा किया।