India vs Bangladesh T20I, Nidahas Trophy Final: Yuzvendra Chahal, Jaydev Unadkat restrict Bangladesh to 166/8
भारतीय टी20 टीम © AFP

निदाहास ट्रॉफी के फाइनल टी20 मैच में भारतीय गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत बांग्लादेश टीम 8 विकेट खोकर 166 रन ही बना सकी। टीम इंडिया की तरफ से युजवेंद्र चहल ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए, वहीं आखिरी के ओवरों में किफायती गेंदबाजी कर जयदेव उनादकट ने 2 विकेट झटके। बांग्लादेश की तरफ से सब्बीर रहमान ने 77 रनों की धमाकेदार पारी खेली, उन्हे ऊपरी क्रम में भेजने का कप्तान शाकिब अल हसन का फैसला एक बार फिर सही साबित हुआ। हालांकि भारत के शानदार बल्लेबाजी क्रम के सामने 167 का स्कोर काफी होगा या नहीं ये तो मैच के बाद ही पता चलेगा।

आशीष नेहरा को पीछे छोड़ भारत के लिए टी20 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले तीसरे गेंदबाज बने युजवेंद्र चहल
आशीष नेहरा को पीछे छोड़ भारत के लिए टी20 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले तीसरे गेंदबाज बने युजवेंद्र चहल

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेशी टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। टीम ने 68 के स्कोर पर चार बड़े विकेट खो दिए। सबसे पहले नई गेंद के साथ वाशिंगटन सुंदर ने चौथे ओवर में लिटन दास को सुरेश रैना के हाथों कैच आउट कराया। उसके बाद युजवेंद्र चहल ने अपने स्पेल के पहले ही ओवर में तमीम इकबाल और सौम्य सरकार जैसे बड़े बल्लेबाजों को आउट किया। एक ही ओवर में दो विकेट खोने के बाद बांग्लादेशी टीम बैकफुट पर आ गई। हालांकि सब्बीर रहमान एक छोर से क्रीज पर डटे रहे। लेकिन दूसरे छोर पर उन्हें किसी का साथ नहीं मिला।

11वें ओवर की पहली गेंद पर चहल ने मुशफिकुर रहीम को केवल 9 रन के स्कोर पर कैच आउट कराया। इसके बाद महमदुल्लाह ने सब्बीर के साथ एक साझेदारी बनाने की कोशिश की लेकिन 21 रन बनाने के बाद वो 15वें ओवर में रन आउट होकर पवेलियन लौट गए। सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए कप्तान शाकिब अल हसन भी जल्दबाजी में रन लेने के चक्कर में केएल राहुल के हाथों रन आउट हो गए। इस बीच सब्बीर रहमान ने अपना अर्धशतक पूरा किया। बांग्लादेश को 150 के स्कोर के करीब पहुंचाने के बाद सब्बीर 19वें ओवर में जयदेव उनादकट की गेंद पर बोल्ड हो गए। उनादकट ने सब्बीर को आउट कर भारत को बड़ी सफलता दिलाई। अगर वो आखिरी ओवर तक क्रीज पर रहते को बांग्लादेश का स्कोर कुछ और होता। मेहदी हसन ने आखिरी ओवर में 19 रनों की एक छोटी लेकिन अहम पारी खेली जिसकी बदौलत बांग्लादेश ने भारत के सामने 167 का लक्ष्य रखा।