India vs England, 1st Test: There is no hiding from this defeat, says Virat Kohli
Virat Kohli © Getty Images

साल 2014 के निराशाजनक दौरे के बाद इंग्लैंड के खिलाफ हालिया टेस्ट सीरीज में विराट कोहली की बल्लेबाजी को लेकर काफी बात हुए। कप्तान कोहली ने पहले ही टेस्ट मैच में 149 रनों की शानदार पारी खेलकर अपने समीक्षकों को तो जवाब दे दिया लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके। खराब बल्लेबाज के चलते भारतीय टीम बर्मिंघम टेस्ट में 31 रनों से हार गई।

टीम इंडिया को 31 रनों से हराकर इंग्लैंड ने बर्मिंघम टेस्ट जीता
टीम इंडिया को 31 रनों से हराकर इंग्लैंड ने बर्मिंघम टेस्ट जीता

मैच के बाद कप्तान ने कहा, “पहली बात तो ये कि ये सभी दर्शकों के लिए एक बेहतरीन क्रिकेट मैच था। ऐसे टेस्ट मैच का हिस्सा बनकर मैं खुश हूं। ऐसे कई मौके थे जब हमने खेल में वापसी की। इंग्लैंड जैसी टीम आपको हर बार वापसी के मौके नहीं देती। उन्होंने हमे रनों के लिए कड़ी मेहनत करने पर मजबूर किया। सीरीज की अच्छी शुरुआत हुई है और इस मैच से हमे आगे खेलने के लिए काफी चीजें मिली हैं।”

खराब बल्लेबाजी के बारे में कोहली ने कहा, “हमारा शॉट सेलेक्शन और बेहतर हो सकता था। हमे बल्ले के साथ और बेहतर प्रदर्शन करने की जरूरत थी लेकिन इंग्लैंड ने जबरदस्त वापसी की। हम यहां से सकारात्मक चीजें लेकर आगे बढ़ना चाहेंगे। बतौर टीम हम अपने आप पर गर्व कर सकते हैं कि हमने इंग्लैंड के खिलाफ इंग्लैंड में ऐसी शुरुआत की। पहली पारी में निचले क्रम की बल्लेबाजी से काफी कुछ सीखने की जरूरत है। इशांत और उमेश क्रीज पर टिके, इशांत ने चरित्र दिखाया, उमेश ही हार्दिक के साथ टिका रहा।”

आखिर में कोहली ने कहा, “इस हार से मुंह नहीं छपाया जा सकता है। हमें सकारात्मक रहने की जरूरत है। आगे बढ़ने समय हमे नकारात्मक चीजों से दूर रहकर सकारात्मक चीजों को अपनाना होगा।”