India vs England, 2ed ODI: Mahendra Singh Dhoni booed by Indian spectators
Mahindra Singh Dhoni (File Photo) © PTI

महेंद्र सिंह धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज के दूसरे मैच में जहां 10 हजार रन के आंकड़े को पार किया वहीं दूसरी तरफ उन्हें भारत की 86 रन की हार के दौरान धीमी बल्लेबाजी के लिए भारतीय समर्थकों की हूटिंग का सामना करना पड़ा। इंग्लैंड के 323 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत 50 ओवर में 236 रन ही बना सका और इस दौरान 59 गेंद में 37 रन की पारी खेलने के लिए धोनी की आलोचना हुई।

रविचंद्रन अश्विन को नंबर 4 पर बल्लेबाजी करते देखना चाहते हैं गंभीर
रविचंद्रन अश्विन को नंबर 4 पर बल्लेबाजी करते देखना चाहते हैं गंभीर

जो रूट ने जतवाई हैरानी

इंग्लैंड के जो रूट को यह ‘ हैरानी भरा ’ लगा लेकिन भारत के युजवेंद्र चहल ने कहा कि उन्हें हूटिंग की घटना की जानकारी नहीं है। पारी के 46 वें ओवर की शुरुआत से पहले भारत की हार लगभग तय हो गई थी क्योंकि टीम को 30 गेंद में 110 रन की जरूरत थी। डेविड विली के ओवर में हालांकि जब धोनी पहली चार गेंद पर रन बनाने में नाकाम रहे तो दर्शक के धैर्य का बांध टूट गया। इसके बाद प्रत्येक खाली गेंद पर हूटिंग हुई जो धोनी के प्रशंसकों की संख्या को देखते आम बात नहीं है।

इस ओवर के अंत में शार्दुल ठाकुर और अक्षर पटेल एनर्जी ड्रिंक और दूसरा बल्ला लेकर आए जिस पर कमेंटेटरों ने कहा कि यह धोनी को रन गति बढ़ाने का संदेश है। अगले ओवर की पहली गेंद पर धोनी कैच देकर पवेलियन लौट गए।

चहल ने किया बचाव 

युजवेंद्र चहल ने हालांकि कहा कि धोनी को कोई संदेश नहीं दिया गया था। उन्होंने कहा , ‘‘मुझे नहीं पता कि उसे क्या संदेश दिया गया। हार्दिक के आउट होने के बाद मैं , सिद्धार्थ कौल , उमेश यादव और कुलदीप ही बचे थे। इसलिए ऐसा नहीं था कि दो – तीन विशेषज्ञ बल्लेबाज बचे थे। उसे बल्लेबाजी का काफी मौका नहीं मिला था इसलिए यह विकेट पर टिकने का मौका था। अगर वह बड़ा शाट मारने की कोशिश में पहले आउट हो जाता तो शायद हम 50 ओवर भी नहीं खेल पाते।’’