India vs England: Jasprit Bumrah plans in advance before visiting a new country
Jasprit bumrah (File Photo) © Getty Image

भारत और इंग्‍लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्‍ट सीरीज का आगाज एक अगस्‍त से होने जा रहा है। टेस्‍ट सीरीज के लिए भारत ने अपनी 18 सदस्‍यीय टीम की घोषणा कर दी है। दोनों टीमों के बीच एक अगस्‍त से 11 सितंबर के बीच पांच टेस्‍ट मैच खेले जाएंगे। टेस्ट टीम में हिस्‍सा लेने वाले जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा, मोहम्‍मद शमी, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जड़ेजा जैसे खिलाड़ी इंग्‍लैंड के लिए रवान हो चुके हैं। इंग्‍लैंड की तरफ से टेस्‍ट टीम की घोषणा अभी नहीं की गई है।

'अगर विराट कहता है उसके रन मायने नहीं रखते तो वाे झूठ बोल रहा है'
'अगर विराट कहता है उसके रन मायने नहीं रखते तो वाे झूठ बोल रहा है'

आयरलैंड टी-20 के दौरान बुमराह के हाथ में हुआ था फ्रैक्चर

जसप्रीत बुमराह आयरलैंड के खिलाफ पहले टी-20 के दौरान बाएं हाथ के अंगूठे में फ्रैक्चर के कारण बाहर हो गए थे। जिसके कारण वो इंग्‍लैंड के खिलाफ टी-20 और वनडे सीरीज नहीं खेल पाए। दूसरे टेस्‍ट मैच से उनके टीम में उपलब्‍ध रहने की संभावना है। इंग्‍लैंड के लिए निकलने से पहले जसप्रीत बुमराह ने अपनी आईपीएल फ्रेंचाईजी मुंबई इंडियन्‍स से बातचीत के दौरान कहा, “मैं अपने सभी ओवरसीज टूर पर निकलने से पहले बारीकी से प्‍लानिंग करता हूं। साथ ही मैं उस देश का भी अच्‍छे से लुत्‍फ उठाना पसंद करता हूं जहां मैं खेलने जा रहा हूं।”

वीडियो देखकर करता हूं प्‍लानिंग

जिस देश में आप जाते हो वहां घूमने में आपकी दिलचस्‍पी होती है। आप उस देश को इंज्‍वाय करने लगते हो। ये आपकी परफॉर्मेंस में भी नजर आने लगता है। बुमराह ने कहा, “जिस देश में मैं खेलने के लिए जाता हूं वहां पहुचंने से पहले ही मैं अपनी प्‍लानिंग पूरी कर लेता हूं। मैं ये जानना चाहता हूं कि होम टीम वहां किस तरह से तैयारी कर रही है। इसके लिए मैं काफी वीडियो भी देखता हूं।”

टेस्‍ट में खिलाड़ी की असली क्षमता का पता चलता है

बुमराह ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपना टेस्‍ट डेब्‍यू किया था, जिसमें उन्‍होंने तीन टेस्‍ट में 14 विकेट निकाल सभी का ध्‍यान अपनी ओर आकर्षित किया था। बुमराह ने कहा, “मैं हमेशा से ही टेस्‍ट क्रिकेट को काफी पसंद करता रहा हूं। मैं काफी खुश था जब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहली बार टेस्‍ट खेलने का मौका मिला था। टेस्‍ट क्रिकेट में खिलाड़ी की असली क्षमता का पता चलता है।”