India vs England: R Ashwin says  batsmen from both teams found it tough to score on a challenging surface at Edgbaston
virat kohli © Getty Images

रविचंद्रन अश्विन ने भारतीय बल्लेबाजों का बचाव करते हुए आज यहां कहा है कि एजबेस्टन की पिच चुनौतीपूर्ण थी और इस पर दोनों टीमों के के बल्लेबाजों को संघर्ष करना पड़ा।

20 साल के सैम कुर्रन बोले- ऐसा लग रहा है जैसे मैं सपना देख रहा हूं
20 साल के सैम कुर्रन बोले- ऐसा लग रहा है जैसे मैं सपना देख रहा हूं

पहले टेस्ट मैच में 31 रन की हार के बावजूद अश्विन ने कहा कि टीम के अपने प्रदर्शन से हौसले बुलंद हैं और पांच मैचों की सीरीज के लिए इस मैच में उसके लिए कई सकारात्मक पहलू रहे।

अश्विन ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘जब आप रन बनाते हो और विकेट लेते हो तो आप यह सुनिश्चित करना चाहते हो कि यह विरोधी टीम के लिए नुकसान पहुंचाने वाला हो और आप जीतना चाहते हो। इससे आपको मैच से अधिक खुशी मिलती है और जब ऐसा नहीं होता है तो आप इसको लेकर थोड़ा निराश रहते हो। यह मैच उतार-चढ़ाव वाला रहा और तेज गेंदबाजों के लिए परिस्थितियां काफी अच्छी थी।’

उन्होंने कहा, ‘ इसलिए वे मैच में बने हुए थे और बल्लेबाज को ऐसी गेंद मिलती है जिस पर वह आउट हो सकता हो। मुझे लगता है कि हमने पूरे मैच में अच्छा मुकाबला किया। कई चीजें रही जिन पर हम गर्व कर सकते हैं इसलिए मैं पूरी तरह से निराश नहीं हूं।’

भारत के सामने 194 रन का लक्ष्य था लेकिन पूरी टीम 162 रन पर सिमट गई। विराट कोहली ने 51 रन बनाए  लेकिन उन्हें दूसरे छोर से सहयोग नहीं मिला।

अश्विन बोले- बल्‍लेबाजी के लिए मुश्किल पिच  थी

अश्विन ने कहा, ‘यह बल्लेबाजी के लिए मुश्किल पिच थी। अगर पहली पारी में जो रूट और जॉनी बेयरस्‍टो की भागीदारी छोड़ दी जाए और फिर हमारी तरफ से विराट कोहली की पारियों को तो मुझे नहीं लगता कि दोनों टीमों के बल्लेबाज अधिक स्वतंत्रता के साथ रन बनाने में सक्षम रहे। इसमें संघर्ष करना पड़ रहा था और इसलिए मुझे लगता है कि हमें बल्लेबाजों को पूरी तरह से हार का जिम्मेदार नहीं माना जा सकता है।’

उन्होंने कहा, ‘ इस मैच में हम जीतना चाहते थे और इसमें संदेह नहीं। लेकिन कई ऐसी चीजें रही जिन पर हम गर्व महसूस कर सकते हैं। यह टेस्ट श्रृंखला लंबी है इसलिए सीरीज के शुरू में आहत या दुखी महसूस करना अनुचित होगा।’