© Getty Images
© Getty Images

नंबर 1 टेस्ट टीम भारत शुक्रवार को द.अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज का आगाज करेगी। पहला टेस्ट केपटाउन में खेला जाएगा, जहां कि तेज, उछाल भरी पिच तेज गेंदबाजों को खासा मदद देती है। हालांकि टीम इंडिया के खिलाफ ऐसा नहीं होने वाला। दरअसल केपटाउन में सूखे के हालात हैं और जिसके चलते केपटाउन के न्यू लैंड्स मैदान की पिच पर ज्यादा पानी नहीं डाला गया है, जिसकी वजह से इस पिच में उतरी कठोरता नहीं होगी जिसके लिए ये जानी जाती है।

पिच क्यूरेटर ने क्या कहा?

पिच क्यूरेटर एवेन फ्लिंट ने बताया कि पानी की कमी के चलते मैदान पर हफ्ते में दो ही बार पानी डाला गया है, जिसकी वजह से न्यूलैंड्स की पिच पहले जैसी कठोर नहीं रहेगी। साथ ही मैदान की घास भी बिलकुल हरी-भरी नहीं होगी। जिस वजह से गेंद आउट फील्डर पर रुकेगी नहीं और तेजी से बाउंड्री पार होगी। पिच क्यूरेटर के मुताबिक पिच पर भले ही पानी कम डाला गया है लेकिन पहले दिन पिच में उछाल और बाउंस होगा। साथ ही क्यूरेटर ने बयान दिया कि इस पिच पर गेंद सीम और स्विंग होगी और यहां स्पिनर को भी थोड़ी मदद मिल सकती है। वैसे पिच क्यूरेटर ने दोनों टीमों को 1-1 स्पिनर के साथ उतरने की ही सलाह दी।

द.अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में टीम इंडिया को 'हनुमान भक्त' से खतरा!
द.अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में टीम इंडिया को 'हनुमान भक्त' से खतरा!

केपटाउन में द.अफ्रीका का प्रदर्शन
वैसे आपको बता दें द.अफ्रीका ने साल 2006 से लेकर आज तक केपटाउन के न्यूलैंड्स मैदान पर कुल 15 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से उसे महज एक टेस्ट मैच में हार मिली है। द.अफ्रीकी टीम ने इस मैदान पर 10 टेस्ट मैच जीते हैं और 4 टेस्ट ड्रॉ रहे हैं। भारत के खिलाफ द.अफ्रीका ने केपटाउन में 4 में से 2 मैच जीते हैं और 2 ड्रॉ रहे हैं। पिछले 11 सालों में द.अफ्रीकी टीम केपटाउन के मैदान पर सिर्फ इंग्लैंड को नहीं हरा सकी है, इसके अलावा उसने भारत, वेस्टइंडीज, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड जैसी टीमों को मात दी है।