चेतेश्वर पुजारा © Getty Images
चेतेश्वर पुजारा © Getty Images

भारत और श्रीलंका के बीच कोलकाता में खेले जा रहे पहले टेस्ट के तीसरे दिन टीम इंडिया अपनी पहली पारी में 172 रनों पर ऑलआउट हो गई है। यह भारत का श्रीलंका के खिलाफ अपनी सरजमीं पर दूसरा सबसे कम स्कोर है इसके पहले साल 2005 चेन्नई में वे 167 रनों पर ऑलआउट हो चुके हैं। तेज गेंदबाजों के लिए मददगार रही इस पिच में टीम इंडिया शुरू से ही बैकफुट पर नजर आई। पहले दो दिन तो बारिश के भेंट चढ़ गए लेकिन तीसरे दिन पहली बार मैदान पर सूर्य देवता ने दर्शन दिए। लेकिन इसके बावजूद गेंदबाजों का कहर कम नहीं हुआ और वे निश्चित अंतराल में विकेट लेते नजर आए।

टीम इंडिया की ओर से सबसे ज्यादा रन चेतेश्वर पुजारा ने बनाए। पुजारा ने 117 गेंदों में 52 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 10 चौके लगाए। उन्हें गमाजे ने बोल्ड किया। उनके अलावा रिद्धिमान साहा ने 29 और रविंद्र जडेजा ने 22 रन बनाए। आखिरी पलों में मोहम्मद शमी ने धमाकेदार पारी खेली और वह 22 गेंदों में 24 रन बनाकर आउट हुए। टीम इंडिया के 6 बल्लेबाज तो दहाई का आंकड़ा तक नहीं छू पाए। भारत की ओर से सबसे बड़ी साझेदारी जडेजा और साहा ने सातवें विकेट के लिए 48 रनों की निभाई।

श्रीलंका की ओर से तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल खासे सफल रहे और उन्होंने 21 रन देकर 4 विकेट झटके। उनके अलावा दसुन शनाका, लाहिरु गमाजे और दिलरुवान परेरा ने 2-2 विकेट झटके।

दूसरे दिन का खेल:

टीम इंडिया ने दूसरे दिन के पहले सेशन में 3 विकेट पर 17 रनों के आगे खेलना शुरू किया। टीम इंडिया को उम्मीद थी कि उपकप्तान अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा की जोड़ी टीम को संकट से बाहर निकालेगी लेकिन ऐसा हुआ नहीं। टीम के खाते में 13 रन और जुड़े थे कि अजिंक्य रहाणे सिर्फ 4 रन बनाकर शनाका को विकेट दे बैठे।

मार्च 2018 में टीम इंडिया खेलेगी टी20 ट्राई सीरीज, ये होंगी दो अन्य टीमें
मार्च 2018 में टीम इंडिया खेलेगी टी20 ट्राई सीरीज, ये होंगी दो अन्य टीमें

चौथा विकेट गिरने के बाद आर अश्विन ने क्रीज पर कदम रखा लेकिन वो भी मुश्किल हालात में ज्यादा देर नहीं टिक सके। अश्विन भी 4 रन बनाकर शनाका की गेंद पर आउट हो गए। दूसरी ओर चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर टिके रहे। पुजारा ने जबर्दस्त डिफेंस दिखाते हुए कमजोर गेंदों पर रन बनाए। पुजारा और रिद्धिमान साहा की जोड़ी विकेट पर जमी हुई थी कि बारिश आ गई और खेल को रोकना पड़ा। बारिश के चलते पहले दिन की तरह दूसरे दिन भी महज 21 ओवर का खेल हो सका।