उपुल थरंगा © AFP
उपुल थरंगा © AFP

श्रीलंका के वनडे कप्तान उपुल थरंगा ने टीम इंडिया से 0-5 से सीरीज हारने के बाद कहा है कि वो वनडे कप्तानी नहीं छोड़ेंगे और इसका कोई कारण भी नहीं है। उपुल थरंगा ने बयान दिया, ‘कप्तानी छोड़ने का कोई कारण नहीं है । अगली चयन समिति तय करेगी कि हम आगे कैसे बढेंगे। हमने अच्छा खेल नहीं दिखाया और पिछले दो साल में हमने अच्छा नहीं खेला । मेरा मानना है कि ये खिलाड़ी ही इस बुरे दौर से टीम को बाहर निकालेंगे । हमें बेहतर रणनीति के साथ उन क्षेत्रों को तलाशना होगा जिनमें सुधार की जरूरत है।’

उपुल थरंगा ने कहा, ‘हमारे यहां पारदर्शिता की कमी है। हमने बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। मैं अपने बल्लेबाजों से निराश हूं। भारत लगातार अच्छा खेल रहा था उसके टॉप ऑर्डर ने काफी रन बनाए लेकिन हम एक भी बार बड़ा स्कोर नहीं बना सके।’ थरंगा ने आगे कहा, ‘हमने कई गलतियां की । बल्लेबाज बड़ा स्कोर नहीं बना सके ।पांच मैचों के बाद भी हम 250 रन के पार नहीं जा सके । मैं इससे निराश हूं ।ऐसी बल्लेबाजी चिंता का सबब है । आखिरी सात विकेट हमने 53 रन के भीतर गंवा दिये । ऐसा बार बार हो रहा है और इन गलतियों में सुधार करना होगा।’

टीम इंडिया के खिलाफ वनडे सीरीज में श्रीलंका को अपने इतिहास की सबसे शर्मनाक हार झेलनी पड़ी। श्रीलंकाई टीम कभी अपने धरती पर वनडे सीरीज के सभी मैच नहीं हारी थी लेकिन टीम इंडिया के खिलाफ उसका क्लीन स्वीप हो ही गया। 5 मैचों की वनडे सीरीज में श्रीलंका कभी भी टीम इंडिया को टक्कर देने वाली टीम नजर नहीं आई। बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग सभी मोर्चों पर टीम इंडिया ने श्रीलंका को हराया। आईसीसी रैंकिंग में विराट कोहली का ‘रिकॉर्डतोड़’ प्रदर्शन, सचिन तेंदुलकर के बड़े रिकॉर्ड की बराबरी की

कैसे हुआ श्रीलंका का क्लीन स्वीप?
वनडे सीरीज के पहले मैच में श्रीलंका बुरी तरह 9 विकेट से हारा। दूसरे वनडे में टीम इंडिया ने उसे रोमांचक मुकाबले में 3 विकेट से हरा दिया। इसके बाद तीसरा वनडे पल्लेकेले में खेला गया और ये मैच भी एकतरफा रहा। इस मुकाबले को टीम इंडिया ने 6 विकेट से जीत लिया। चौथे वनडे में श्रीलंका को 168 रनों की करारी हार झेलनी पड़ी। पांचवें और आखिरी वनडे में श्रीलंका के पास अपनी लाज बचाने का मौका था लेकिन इस मौके पर भी श्रीलंकाई टीम 6 विकेट से हार गई। (पीटीआई के इनपुट के साथ)