शार्दुल ठाकुर © PTI
शार्दुल ठाकुर © PTI

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर को एक साल से ज्यादा समय पहले भारतीय टीम में चुन लिया गया था लेकिन उन्हें अभी तक अपने पहले मैच का इंतजार है और मुंबई के इस तेज गेंदबाज ने कहा कि वो संयम बरतकर इस दौरान खुद को इस मौके के लिये तैयार करते रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि श्रीलंका के खिलाफ चौथे वनडे में शार्दुल ठाकुर गुरुवार को अपना वनडे डेब्यू कर सकते हैं। कप्तान विराट कोहली ने खिलाड़ियों के रोटेशन का वादा किया था और अगर भारत भुवनेश्वर कुमार या जसप्रीत बुमराह को आराम देने का फैसला करता है तो ठाकुर को मौका मिल सकता है।

ठाकुर ने मैच से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘ कुछ सालों से मैं काफी कड़ी मेहनत कर रहा हूं। जब भी मुझे मौका मिले, मुझे तैयार होना चाहिए। ये ध्यान में रखते हुए मैं हमेशा अपनी तैयारी करता हूं। भले टीम मुझे खिलाये या नहीं, ये प्रबंधन का फैसला है। लेकिन आप व्यक्तिगत रूप से मुझसे पूछोगे तो जब भी मुझे मौका मिले तो मुझे मुकाबले के लिये तैयार रहना चाहिए और मुझे इसी के हिसाब से तैयारी करनी चाहिए।’ ठाकुर 2016 से अनिल कुंबले की कोचिंग के दौरान से भारतीय दल का हिस्सा हैं, जब उन्होंने वेस्टइंडीज का दौरा किया था। वो तब से मौका मिलने का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन उन्हें प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिला।  वनडे सीरीज में जीत का ‘चौका’ लगाने उतरेगी टीम इंडिया

शार्दुल ठाकुर ने कहा कि वो गेंदबाजी कोच भरत अरूण के साथ काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं एनसीए में अंडर-19 कैंप के दौरान भरत अरुण से मिला था। ये एक तकनीकी शिविर था, जिसमें खिलाड़ी प्रदर्शन करते और अपनी तकनीक पर काम करके बेहतर होते हैं। ये मेरा उनके साथ भारतीय टीम में पहला मौका था और अभी तक ये अच्छा रहा है। अब मैं उनके साथ मैच से जुड़ी बातें ज्यादा करता हूं।’