एम एस धोनी © Getty Images
एम एस धोनी © Getty Images

हाथ में बल्ला हो तो गेंदबाजों के होश उड़ाते हैं और विकेट के पीछे खड़े हों तो बल्लेबाजों पर कहर बरपाते हैं, ये है एम एस धोनी की खासियत। श्रीलंका के खिलाफ पांचवें वनडे में एम एस धोनी वनडे इतिहास के सबसे सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर बन गए। एम एस धोनी के नाम वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा 100 स्टंपिंग्स हो गई। इससे पहले ये रिकॉर्ड श्रीलंका के विकेटकीपर कुमार संगाकारा के नाम था जिनके नाम 99 स्टंपिंग थी।

धोनी का 100वां शिकार बने दनंजया
एम एस धोनी ने अपना 100वां स्टंप अकिला दनंजया को आउट कर पूरा किया। युजवेंद्र चहल की गेंद पर अकिला दनंजया ने आगे बढ़कर शॉट खेलने की कोशिश की, लेकिन वो गेंद को खेलने से चूक गए और विकेट के पीछे खड़े एम एस धोनी ने कोई गलती नहीं की। धोनी ने स्टंप को उड़ाकर वनडे में सबसे ज्यादा स्टंपिंग्स का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। धोनी आलोचकों को बल्ले से चुप कराते रहेंगे- सौरव गांगुली

सबसे ज्यादा स्टंपिंग्स
एम एस धोनी ने 301 वनडे मैचों में 100 स्टंपिंग्स करने का कारनामा किया है। जबकि संगाकारा ने 404 मुकाबलों में 99 स्टंपिंग्स की थी। श्रीलंका के रोमेश कालूवितरणा ने 189 मुकाबलों में 75 स्टंपिंग्स की थी। पाकिस्तान के विकेटकीपर मोइन खान के नाम 73 स्टंपिंग्स थी। आपको बता दें वनडे में सबसे ज्यादा स्टंपिंग्स का रिकॉर्ड धोनी के नाम है तो टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर बर्ट ओल्डफील्ड के नाम सबसे ज्यादा 52 स्टंपिंग्स हैं। टी20 में सबसे ज्यादा 32 स्टंपिंग्स पाकिस्तान के विकेटकीपर कामरान अकमल के नाम हैं। धोनी के नाम टेस्ट में 38 और टी20 मैचों में 23 स्टंपिंग्स हैं। धोनी टेस्ट क्रिकेट छोड़ चुके हैं लेकिन अभी वनडे और टी20 क्रिकेट में वो और शानदार स्टंपिंग्स करते नजर आ सकते हैं।