India’s Under-19 stars displayed glimpse of their talent in IPL 2018
Prithvi Shaw © AFP

अंडर-19 वर्ल्‍ड कप में शानदार प्रदर्शन करने वाले युवा खिलाडि़यों का इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-2011 में भी धमाकेदार प्रदर्शन जारी रहा। भारत को चौथी बार अंडर-19 वर्ल्‍ड कप का खिताब दिलाने वाले इन युवाओं ने आईपीएल में अपनी टीमों के लिए उपयोगी पारियां खेली। इन युवाओं ने प्रतिभा की झलक से दिखा दिया कि आने वाला समय इन्‍हीं का है।

खिताब जीतने के बाद ईश्‍वर के दर पर ट्रॉफी के साथ पहुंचे चेन्‍नई के सितारे
खिताब जीतने के बाद ईश्‍वर के दर पर ट्रॉफी के साथ पहुंचे चेन्‍नई के सितारे

दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स टीम प्रबंधन में गौतम गंभीर के उपलब्ध रहने के बावजूद अंडर-19 टीम के कप्‍तान पृथ्‍वी शॉ को प्‍लेइंग इलेवन में जगह दी। कम उम्र में ही पृथ्‍वी की तुलना सचिन तेंदुलकर से की जाने लगी है। पृथ्‍वी को आईपीएल-11 में कुल 9 मैच खेलने का मौका मिला जिसमें उन्‍होंने 245 रन बनाए। इस दौरान इस खिलाड़ी का स्‍ट्राइक रेट 153 का रहा।

अभिषेक शर्मा को सिर्फ 3 आईपीएल मैच ही खेलने को मिले। लेकिन ये इस युवा खिलाड़ी के लिए पर्याप्‍त थे। अभिषेक ने दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की ओर से खेलते हुए 190 की स्‍ट्राइक रेट से रन बनाए।

इस आईपीएल में कोलकाता नाइटराइडर्स ने पेसर शिवम मावी और कमलेश नागरकोटि को अपने साथ जोड़ा था। हालांकि चोट की वजह से नागरकोटि आईपीएल से बाहर हो गए लेकिन मावी ने अपनी रफ़तार से सबको प्रभावित किया। उनकी प्रतिभा पर किसी को शक नहीं है। उन्‍होंने 9 मैचों में 5 विकेट लिए।

इनको नहीं मिली प्‍लेइंग इलेवन में जगह

मुंबई इंडियंस ने अनुकूल रॉय को जबकि दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स ने मनजोत कालरा को अपनी टीम में शामिल किया था। लेकिन इन खिलाडि़यों को प्‍लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली। दोनों खिलाड़ी हर मैच में बैंच पर बैठे नजर आए।