Interim injunction stays Sri Lanka Cricket board election

श्रीलंका की एक अदालत ने श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) के गुरुवार को होने वाले चुनाव पर रोक लगा दी है।

तिलंगा सुमतिपाला के खिलाफ निशांत राणातुंगा द्वारा दायर याचिका पर सुनवायी करते हुए अदालत ने 14 जून तक चुनाव नहीं कराने का आदेश दिया है।

निशांत रणतुंगा श्रीलंका के विश्व विजेता पूर्व कप्तान अर्जुना राणातुंगा के भाई है और बोर्ड के अध्यक्ष का चुनाव लड़ रहे हैं। वह बोर्ड के पूर्व उपाध्यक्ष और सचिव भी रहे हैं। वह इस चुनाव में सुमतिपाला के मुख्य प्रतिद्वंद्वी है।

एसएलसी प्रशासन जिसमें निशांत राणातुंगा को सचिव बनाया गया था लेकिन उन्हें 2015 में मौजूदा सरकार ने बर्खास्त कर दिया था। इसके बाद एक अंतरिम समिति को नियुक्त किया गया था और चुनाव में सुमतिपाला को 2016 में अध्यक्ष चुना गया था।

गौरतलब है विश्व कप विजेता कप्तान अर्जुना राणातुंगा ने कहा कि श्रीलंका क्रिकेट में भ्रष्टाचार ‘शीर्ष पद तक फैला है’ और उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद पर मैच फिक्सिंग रोकने में नाकाम रहने का भी आरोप लगाया। राणातुंगा अभी सरकारी सरकार में मंत्री हैं , उन्होंने कहा कि श्रीलंका में क्रिकेट में भ्रष्टाचार अल जजीरा द्वारा रविवार को दिखाई गई डॉक्‍यूमेंट्री में किए गए दावों से कहीं ज्यादा बड़े स्तर पर मौजूद है।