एमएस धोनी  © AFP
एमएस धोनी © AFP

आईपीएल 2017 के फाइनल में मुंबई इंडियंस, राइजिंग पुणे सुपरजायंट के साथ भिड़ेगी लेकिन इसके बावजूद पुणे फ्रेंचाइजी के मालिक संजीवन गोयनका अपनी टीम के दो बड़े खिलाड़ियों की तुलना करने से बाज नहीं आए हैं। हिंदुस्तान टाइम्स से एक इंटरव्यू में संजीव गोयनका ने धोनी को एक बेहतरीन दिमागदार खिलाड़ी बताया लेकिन कहा कि ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ उनसे एक कदम आगे हैं। शुक्रवार को गोयनका ने एचटी से कहा, “जितने लोगों से मैंने अबतक बात की है उनमें एमएस धोनी सबसे ज्यादा दिमागदार इंसान हैं और वह दुनिया में सबसे बेहतरीन विकेटकीपर हैं लेकिन स्मिथ उनसे एक कदम आगे हैं। मैंने स्मिथ को कहा था कि इस चैंपियनशिप को जीतो।”

अभी तक संजीव के भाई हर्ष ने ट्विटर पर एंटी-धोनी पोस्ट डालते हुए बवाल मचाया हुआ था और अब फ्रेंचाइजी के टॉप बॉस ने ही धोनी को लेकर तंज कस दिया है। गोयनका ने कहा, “जिस तरह के कुछ बल्लेबाजों को आउट करने के लिए उन्होंने योजना बनाई उसपर यकीन कर पाना मुश्किल है। इसके अलावा जिस कुशलता और दृढ़ता से उन्होंने मुश्किल हालात का सामना किया और सिर्फ जीत का रवैया उन्होंने टीम के खिलाड़ियों में भरा, उसने ही पूरी टीम को एक ईकाई में पिरो दिया। वह स्ट्रेटिजिक टाइम आउट में बैट्समेन से मिलने गए और कहा कि या तो 12 गेंदों में 30 रन ठोंको या आउट हो जाओ। हमारी खराब शुरुआत इसलिए हुई थी क्योंकि स्मिथ पेट खराब होने के कारण बाहर रहे थे।”ये भी पढ़ें-आईपीएल 10, क्वालीफायर 2, कोलकाता नाइट राइडर्स बनाम मुंबई इंडियंस का स्कोरकार्ड

उन्होंने आगे कहा, “आपको प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए करीब 8 से 9 मैच जीतने होते हैं और स्मिथ ने मुझसे कहा था कि मेरे, ताहिर और स्टोक्स के रहते हुए वे सात मैच जीतेंगे और एमएस धोनी के सामर्थ्य वाले खिलाड़ी आपको हमेशा कुछ न कुछ देते हैं। हमारे पास इस बार ज्यादा मैच विनर हैं, ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें अपनी आंखे जमाने में 20 गेंदों की बजाय सिर्फ 5 से 6 गेंदें लगती हैं और हमने राहुल त्रिपाठी, वॉशिंगटन सुंदर और जयदेव उदानकट पर ज्यादा मेहनत नहीं की। सुंदर और त्रिपाठी भविष्य में टीम इंडिया के लिए खरे खिलाड़ी साबित होंगे।

सुपरजायंट जिनके लिए आईपीएल सीजन 2016 बेहद खराब रहा था। उन्होंने मौजूदा सीजन में अपने खेलने के अंदाज में बहुत तब्दीलियां की हैं। जिसके परिणाम स्वरूप टीम फाइनल में पहुंच गई। पिछले सीजन के मुकाबले आरपीएस ने 11 खिलाड़ी बदले। गोयनका ने कहा, “टीम ने युवा, फिट और ज्यादा ऊर्जा वाले खिलाड़ियों को टीम में जगह दी। इस बार जिसके साथ खिलाड़ियों की ज्यादा बनती थी उसे तवज्जो नहीं दी गई।”

यही नहीं, गोयनका ने ये भी बताया कि टीम मैनेजमेंट ने टीम के स्टार्स खिलाड़ियों के घमंड से निपटना भी सीख लिया है। उन्होंने कहा, “हम उन फ्रेंचाइजियों की तरह नहीं हैं जो अपने कुल 66 करोड़ रुपए नहीं खर्च नहीं करना चाहते और पांचवें नंबर पर रहकर खुश रहते हैं लेकिन पिछले साल मुझे इसके बारे में ज्यादा पता नहीं था। साथ ही वर्ल्ड टी20 आसपास था इसलिए हमारे पास समय भी नहीं था।”

राइजिंग पुणे सुपरजायंट मुंबई इंडियंस के साथ आईपीएल 2017 के फाइनल मैच में हैदराबाद के राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय मैदान पर दो-दो हाथ करेगी।