IPL 2018: After Chennai Super Kings, Delhi Daredevils could lose its home ground
गौतम गंभीर (फाइल फोटो) © AFP

कावेरी विवाद के कारण चेन्‍नई सुपर किंग्‍स को अपने होम ग्राउंड से बाहर पुणे जाकर मैच खेलने पर मजबूर होना पड़ रहा है। अब कुछ ऐसे ही स्थिति दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के लिए भी बनती नजर आ रही है। किसी प्रकार का धरना प्रदर्शन दिल्‍ली के लिए मुसीबत नहीं बन रहा है, बल्कि यहां वजह कुछ और ही है। दरअसल, टीवी ब्रॉडकास्‍ट के लिए एक कैमरे का एंगल दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के लिए मुसीबत बन गया है।

नौ साल खेलने के बाद मुंबई इंडियंस मेरे लिए बना परिवार की तरह- कैरोन पोलार्ड
नौ साल खेलने के बाद मुंबई इंडियंस मेरे लिए बना परिवार की तरह- कैरोन पोलार्ड

फिरोजशाह कोटला मैदान के ठीक एक तरफ कोटला का मकबरा है। ये पुरातत्‍व विभाग की संरक्षित साइट में से एक है। नियम के मुताबिक पुरातत्‍व विभाग की किसी भी संरक्षित साइट के 100 मीटर के दायरे में कोई निर्माण कार्य नहीं किया जा सकता, लेकिन स्‍टेडियम का एक हिस्‍सा नियमों को ताक पर रखकर बना हुआ है। इसे लेकर दिल्‍ली हाई कोर्ट में विवाद चल भी रहा है।

अब समस्‍या ये है कि दिल्‍ली हाई कोर्ट आईपीएल मैनेजमेंट को पुराने क्‍लब हाउस की तरफ में कैमरा लगाने की अनुमति नहीं देता है। यहां लगा कैमरा गेंदबाज के बॉलिंग आर्म को फॉलो करता है। ऐसे में अगर यहां कैमरा लगाने की इजाजत नहीं दी गई तो दर्शक मैच के एक महत्‍वपूर्ण हिस्‍से की कवरेज नहीं देख पाएंगे।

न्‍यूज 18 इंडिया की खबर के मुताबिक इस मुद्दे पर दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स, डीडीसीए और आईपीएल मैनेजमेंट की हाल ही में बैठक हुई है। जिसमें सभी पक्ष इस बात को लेकर तो सहमत हैं कि बिना बॉलिंग आर्म्‍स कैमरे के मैच आयोजित नहीं किया जा सकता है। ऐसे में संभावना है कि दिल्‍ली के मैच किसी दूसरे शहर में आयोजित किए जाएं। दिल्‍ली को वैकल्पिक मैदान के रूप में कानपुर, राजकोट, रायपुर और इंदोर को अपना होम ग्राउंड बनाने का सुझाव दिया गया है।