IPL 2018 : Chris Gayle wins heart after showing sportsman spirit
Chris-Gayle © AFP

इन्‍हें दुनिया के विस्‍फोटक ओपनरों में शामिल किया जाता है। कभी ये अपनी आक्रामक बल्‍लेबाजी तो कभी अपने मस्‍तमौला अंदाज के लिए सुर्खियों में बने रहते हैं।लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 के 56वें मैच में किंग्‍स इलेवन पंजाब की ओर से खेल रहे वेस्‍टइंडीज के क्रिस गेल ने पहले बल्‍लेबाजी फिर फील्डिंग में ऐसा काम किया जिसे देखकर सबने एक ही सुर में कहा कि ‘दिल जीत’ ले गया येे खिलाड़ी।

कुछ और मैच जीत लिए होते तो हालात कुछ और होते : रिकी पोंटिंग
कुछ और मैच जीत लिए होते तो हालात कुछ और होते : रिकी पोंटिंग

दरअसल हुआ कुछ यूं कि किंग्‍स इलेवन पंजाब और चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के बीच रविवार को जो मुकाबला हुआ वो गेल की टीम के लिए बेहद अहम था। पंजाब को प्‍लेऑफ में पहुंचने के लिए 53 रन के अंतर से जीत जरूरी था। चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पंजाब को पहले बल्‍लेबाजी के लिए उतारा।

इस मैच में गेल संघर्ष करते नजर आए। पहले ओवर में पंजाब ने सिर्फ सात रन बनाए थे। दूसरे ओवर में स्ट्राइक पर क्रिस गेल थे। दूसरी ही गेंद पर पेसर लुंगी एंगिडी की एक गेंद फंबल करती हुई विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के दस्तानों में जा समाई। कैच आउट की हल्‍की सी अपील हुई जिसे अंपायर ने नकार दिया। लेकिन गेल खेल भावना का परिचय देते हुए पवेलियन की ओर चल पड़े। वह खाता भी नहीं खोल सके। कमेंटेटर भी गेल की खेल भावना को देख हक्‍के-बक्‍के से रह गए क्‍योंकि उन्‍हें पता गेल की टीम के लिए इस मैच में जीत कितना जरूरी है।

गेल इसके बाद जब फील्डिंग के लिए मैदान पर आए तो पेसर अंकित राजपूत की गेंद पर चेन्‍नई के बल्‍लेबाज फाफ डू प्‍लेसिस ने एक शॉट खेला और गेंद पहली स्लिप में गई। जिसे गेल ने लपक लिया। हालांकि गेल कैच के मामले में पूरी तरह से आश्‍वस्‍त नहीं थे और उन्‍होंने इसके बारे में अंपायर को भी बताया।