IPL 2018: Despite all odds Prithvi Shaw emerge as a special talent, says Pravin Amre
पृथ्‍वी शॉ (फाइल फोटो) © AFP

आईपीएल 2018 में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है। लगातार फ्लॉप हो रही दिल्‍ली की टीम ने पहले 10 मैचों में केवल तीन मुकाबलों में ही जीत दर्ज की है। बाकी के सात मुकाबलों में दिल्‍ली को हार का सामना करना पड़ा। लगातार हार के कारण ही गौतम गंभीर ने टीम की कप्‍तानी छोड़ी। जिसके बाद अच्‍छी फार्म में चल रहे श्रेयस अय्यर को टीम का कप्‍तान बनाया गया। अय्यर की कप्‍तानी में दिल्‍ली ने चार में से दो मैच जीते हैं।

VIDEO: मैच से पहले मुंह ढक कर मंदिर पहुंची प्रीति जिंटा, फैन्‍स ने आखिर उन्‍हें पकड़ ही लिया
VIDEO: मैच से पहले मुंह ढक कर मंदिर पहुंची प्रीति जिंटा, फैन्‍स ने आखिर उन्‍हें पकड़ ही लिया

तमाम नकारात्‍मक चीजों के बावजूद इस आईपीएल में दिल्‍ली को एक ऐसा होनहार सितारा मिला है जिसमें क्रिकेट पंडितों को सचिन तेंदुलकर की झलक नजर आती है। दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के सहायक कोच प्रवीण आमरे ने कहा, “इस सीजन में अपना आईपीएल डेब्‍यू करने वाले पृथ्‍वी शॉ भले ही कुछ लोगों के लिए नया नाम हो, लेकिन मुंबई क्रिकेट सर्केट में वो जाना पहचान चेहरा हैं। आईपीएल में टीम भले ही हार रही हो, लेकिन पृथ्‍वी हमारे लिए एक स्‍पेशल टेलेंट हैं।

पृथ्‍वी शॉ ने इस सजन में कुल पांच मैच खेले हैं, जिसमें वो 171 की स्‍ट्राइकरेट से 205 रन बनाकर चुके हैं। आमरे ने कहा, ” मैं पृथ्‍वी को उस वक्‍त से जानता हूं जब वो 14 साल का था। स्‍कूल क्रिकेट में 500 रन बनाने के बाद वो पहली बार सुर्खियों में आया था। वो फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में लगातार चार शतक बना चुका है। उसने रणजी ट्राफी के डेब्‍यू मैच में भी शतक लगाया था।”

आमरे ने कहा, ” पृथ्‍वी शॉ ने 36 गेंदों पर 65 रन की शानदार पारी खेली, जिसकी मदद से हम पहले 10 ओवरों में 95 रन बना पाए। अच्‍छी शुरुआत मिलने के बावजूद पूरी टीम मैच के एक बड़े स्‍कोर तक नहीं ले जा पाई। आखिरी के 10 ओवरों में हमने महज 70 रन बनाए। दो कैच टपकाने के कारण हमने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच गंवाया। ” सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच के दौरान कुछ क्रिकेट एक्‍सपर्ट्स ने पृथ्‍वी शॉ के पिछले पैर की ज्‍यादा मूवमेंट नहीं होने का मुद्दा भी उठाया। हालांकि प्रवीण आमरे का मानना है कि इससे पृथ्‍वी की परफार्मेंस पर कुछ खास फर्क नहीं पड़ रहा है।