IPL 2018: how CSK won’t reach Playoffs
MS Dhoni with coach Stephen Fleming (file photo) © IANS

आईपीएल 2018 के 46वें मुकाबले में चेन्‍नई सुपर किंग्‍स ने सनराइजर्स हैदराबाद को आठ विकेट से हराकर प्‍वाइंट्स टेबल में दूसरे नंबर पर अपनी जगह और मजबूत कर ली है। हैदराबाद प्‍लेऑफ में अपनी जगह बना चुका है, लेकिन अगर अंक गणित को समझें तो चेन्‍नई की टीम ने मजबूत स्थिति होने के बावजूद भी प्‍लेऑफ में अपनी जगह पक्‍की नहीं की है। हैदराबाद पर जीत के बाद चेन्‍नई 12 मैच में आठ जीत के साथ 16 प्‍वइंट्स लेकर दूसरे स्‍थान पर है। वहीं, तीसरे नंबर पर पंजाब 11 मैचों में छह जीत के साथ 12 प्‍वाइंट्स लेकर तीसरे और कोलकाता 12 मैच में छह जीत के साथ 12 प्‍वइंट्स लेकर चौथे स्‍थान पर है। प्‍लेऑफ में आठ में से केवल चार ही टीमें खेलेंगी।

बॉल लेकर जडेजा की तरफ दौड़े धोनी, हुआ बुरा हाल
बॉल लेकर जडेजा की तरफ दौड़े धोनी, हुआ बुरा हाल

चेन्‍नई के दो मैच अभी बचे हैं। ये दोनों मैच उसे दिल्‍ली और पंजाब के खिलाफ खेलने हैं। चेन्‍नई प्‍लेऑफ से बाहर तभी होगी जब वो ये दोनों मैच हार जाएगी। इसके बाद भी अन्‍य टीमों की जीत हार के समीकरण चेन्‍नई को प्‍लेऑफ तक पहुंचने को प्रभावित करेंगे। कम से कम तीन अन्‍य टीमों को 16 अंक तक पहुंचना होगा। साथ ही उन्‍हें नेट रनरेट में भी चेन्‍नई को पीछे छोड़ना होगा।

बाकी टीमों को ऐसा करना होगा

चेन्‍नई प्‍लेऑफ से बाहर तभी होगी जब आने वाले मैचों में मुंबई राजस्‍थान को हराएगी। इसके अलावा पंजाब को बैंगलोर, मुंबई को पंजाब, बैंगलोर को हैदराबाद, दिल्‍ली को चेन्‍नई, बैंगलोर को राजस्‍थान, कोलकाता को हैदराबाद, मुंबई को दिल्‍ली और पंजाब को चेन्‍नई को हराना होगा। अगर ऐसा हुआ तो चेन्‍नई के अलावा पंजाब, मुंबई और कोलकाता के 16 अंक हो जाएंगे। ऐसी स्थिति में नेट रनरेट के आधार पर प्‍लेऑफ की चार टीमों पर फैसला होगा।

पंजाब , मुंबई और कोलकाता को अपने आने वाले मैच सिर्फ जीतने ही नहीं है, बल्कि उन्‍हें बाकी टीमों को बड़े अंतर से हराना होगा। मौजूदा समय में अगर नेट रन रेट की बात करें तो चेन्‍नई के पास +0. 38 हैं। जबकि पंजाब की नेट रन रेट  पास -0.06 कोलकाता की -0.19 और मुंबई की +0.52 हैं। परिस्थितियों को देखते हुए चेन्‍नई का प्‍लेऑफ से बाहर होना बेहद मुश्किल है।