IPL 2018: It’s all about a never-say-die attitude, says Mumbai Indians skipper Rohit Sharma
जसप्रीत बुमराह के साथ विकेट का जश्न मनाते कप्तान रोहित शर्मा © AFP

तीन बार इंडियन प्रीमियर लीग खिताब जीतने वाले अकेली टीम मुंबई इंडियंस के लिए 11वां सीजन वैसा नहीं रहा है जैसा कि फैंस और खिलाड़ियों ने सोचा था। मुंबई अब तक खेले 6 में से 5 लीग मैचों में हारकर प्वाइंट्स टेबल में सबसे नीचे है। मुंबई इंडियंस को आज चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ अहम मुकाबला खेलना है। इस मैच में हार का मतलब है कि मुंबई इंडियंस की प्लेऑफ में पहुंचने की राह काफी मुश्किल हो जाएगी। इस अहम मुकाबले से पहले टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने खिलाड़ियों को बिना किसी डर के क्रिकेट खेलने की सलाह दी है।

IPL 2018: करो या मरो के मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स से भिड़ेगी मुंबई इंडियंस
IPL 2018: करो या मरो के मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स से भिड़ेगी मुंबई इंडियंस

मुंबई इंडियंस के इंस्टाग्राम से पोस्ट किए गए वीडियो में कप्तान ने कहा, “हम एक समय पर एक ही मैच पर ध्यान देंगे और हमे ये सोचना होगा कि हम वो मैच कैसे जीत सकते हैं। अगर हम अपनी क्षमता से 10 प्रतिशत और बेहतर कर सकते हैं तो हमें वो नतीजे मिलेंगे जिसकी हमे तलाश है। अच्छा होगा अगर बतौर टीम हम ज्यादा आगे की ना सोचे, हम एक मैच को जीतने के बारे में सोचना है। हमे अपने बेसिक्स को सही तरीके से करना होगा और मौकों का फायदा उठाना होगा। यहां से सब कुछ ये कभी हार ना मानने की सोच पर निर्भर है। जब हम निडर होकर खेलते हैं तो हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाते हैं।”

A post shared by Mumbai Indians (@mumbaiindians) on

मुंबई इंडियंस चेन्नई के खिलाफ 11वें सीजन का पहला मैच जरूर हार गई थी लेकिन आईपीएल इतिहास की बात करें तो मुंबई ने सीएसके के खिलाफ कुल 12 मैच जीते हैं। जबकि चेन्नई ने 11 मैच जीते हैं।