रिंकू सिंह(दाएं) साभार-फेसबुक अकाउंट
रिंकू सिंह(दाएं) साभार-फेसबुक अकाउंट

पिता कंधे पर सिलेंडर ढोते हैं, दिन-भर में 250-300 रुपये कमाते हैं लेकिन बेटा यूपी का टैलेंटेड बल्लेबाज है। ये कहानी है अलीगढ़ के रहने वाले 20 साल के बल्लेबाज रिंकू सिंह की, जिन्हें आईपीएल 11 की ऑक्शन में कोलकाता नाइट राइडर्स ने खरीदा है। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज को 80 लाख रु. में अपनी टीम में शामिल किया जिनके पीछे मुंबई इंडियंस की टीम भी लगी हुई थी। इसी वजह से 20 लाख के बेस प्राइस वाले रिंकू सिंह की कीमत 80 लाख रु. तक पहुंच गई।

रिंकू सिंह पहली बार आईपीएल ऑक्शन में नहीं बिके हैं। साल 2017 में किंग्स इलेवन पंजाब ने भी उन्हें 10 लाख रु. में खरीदा था हालांकि उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला। बहरहाल अब रिंकू सिंह पिछले एक साल में और खतरनाक बल्लेबाज बन गए हैं, उनका रिकॉर्ड साफतौर पर इसकी गवाही दे रहा है। रिंकू सिंह ने 9 फर्स्ट क्लास मैचों में 49.42 के धमाकेदार औसत से 692 रन बनाए हैं, जबकि 13 लिस्ट ए मैचों में रिंकू ने 55.11 के औसत से 496 रन अपने नाम किए हैं। रिंकू सिंह का बल्लेबाजी औसत साफतौर पर इस ओर इशारा करता है कि उनके अंदर टैलेंट कूट-कूटकर भरा है।

आईपीएल 11 में चलेगी दिल्ली की 'दबंगई', टीम में एक और 'कंगारू' की एंट्री!
आईपीएल 11 में चलेगी दिल्ली की 'दबंगई', टीम में एक और 'कंगारू' की एंट्री!

रिंकू सिंह के पिता खानचंद्रा सिंह अलीगढ़ में लोगों के घर पर सिलेंडर पहुंचाते हैं। खराब आर्थिक हालात के बावजूद रिंकू के पिता ने उन्हें खेल जारी रखने के लिए कहा और पढ़ाई की बजाए क्रिकेट पर ध्यान लगाने को कहा। रिंकू सिंह सबसे पहले आगरा के एक मैच में सुर्खियों में आए थे जहां उन्होंने 154 रन बनाए थे। इसके बाद साल 2014 में विजय हजारे ट्रॉफी में रिंकू सिंह ने 206 और 154 रन बनाकर यूपी रणजी टीम में जगह बनाई।