IPL 2018: Mid-season transfer window is open now; everything you need to know about it
© BCCI

इंडियन प्रीमियर लीग में मिड सीजन ट्रांसफर का विकल्प अब खुल चुका है। पहली बार आईपीएल में शुरू हो रहे मिड सीजन ट्रांसफर का ये विकल्प 28 अप्रैल से 10 मई तक खुला रहेगा। इस विकल्प के जरिए फ्रेंचाईजी टूर्नामेंट के बीच में खिलाड़ियों को खरीद सकती हैं। साथ ही वो खिलाड़ी जिन्हें एक टीम में प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिल रहा है दूसरी टीम को चुन सकते हैं। हालांकि इसके लिए उस खिलाड़ी को सारे नियमों को मानना होगा।

ट्रांसफर के नियम
1-मिड सीजन ट्रांसफर विंडो का इस्तेमाल कैप्ड, अनकैप्ड, विदेशी और घरेलू खिलाड़ी कर सकते हैं। हालांकि कैप्ड खिलाड़ियों के लिए शर्त ये है कि उन्होंने मौजूदा टीम के लिए दो या उससे कम मैच खेले हों।
2-इसमें हिस्सा लेने वाली फ्रेंचाइजी अपनी पसंद के हिसाब से खिलाड़ियों को खरीद सकती हैं।

IPL 2018: जर्सी बदलते ही बदल गई इन खिलाड़ियों की किस्मत
IPL 2018: जर्सी बदलते ही बदल गई इन खिलाड़ियों की किस्मत

टूर्नामेंट का आधा सफर होने के बाद से ही मिड सीजन ट्रांसफर विंडो सक्रिय हो चुकी है और ये लीग के 42वें मैच तक यानि कि 29 अप्रैल से 10 मई तक खुली रहेगी। हालांकि अब तक किसी टीम ने इस पर कोई फैसला नहीं किया है लेकिन अभी काफी समय बचा हुआ है। मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने इस नए नियम की तारीफ की है।

मिड डे को दिए एक बयान में आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला ने इस बारे में बात की थी। उन्होंने कहा था कि, “हां, इस बार आईपीएल में मिड सीजन ट्रांसफर विंडो की शुरुआत की जा रही है। ट्रांसफर 28वें मैच से 42में मैच के बीच होगा और ट्रांसफर विंडो लगभगन पांच दिन के लिए खुली रहेगी। ट्रांसफर तभी होगा अगर कोई फ्रेंचाइजी किसी दूसरी टीम के खिलाड़ी की मांग करेगी।”