IPL 2018:  MS Dhoni advice me to curtail my attacking instincts to begin with, says Ishan Kishan
ईशान किशन © AFP

महेंद्र सिंह धोनी को हमेशा युवा खिलाड़ियों की मदद करने वाले कप्तान के रूप में जाना गया है। धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया में कई युवा खिलाड़ी आए और आज उनसे से कई भारतीय टीम का अहम हिस्सा बन गए हैं। टीम इंडिया के अलावा अपनी घरेलू टीम झारखंड के साथ खेलते हुए भी धोनी ने कई युवा खिलाड़ियों की मदद की है, और उन्हीं में से एक हैं ईशान किशनमुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल खेल रहे किशन ने बताया कि किस तरह धोनी ने उनकी बल्लेबाजी को बेहतर और आक्रामक बनाने में उनकी मदद की थी।

सचिन तेंदुलकर एक क्रिकेटर नहीं, दुनिया है मेरी: वीरेंद्र सहवाग
सचिन तेंदुलकर एक क्रिकेटर नहीं, दुनिया है मेरी: वीरेंद्र सहवाग

इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा, “धोनी भाई ने मुझे नेट में बल्लेबाजी करते देखा, वो मेरे पाए और उन्होंने कहा कि मुझे शुरुआत से ही आक्रामक बल्लेबाजी करनी चाहिए। उनका कहना था कि लंबा पारियां खेलने के लिए मुझे और ज्यादा ठोस बल्लेबाजी करने की जरूरत है और मैने वैसा ही किया। उन्होंने मुझसे मेरा बल्लेबाजी स्टांस बदलने के लिए भी कहा और जब धोनी जैसा कोई ऐसी बात कहता है तो आप उनके विश्लेक्षण पर भरोसा करते हैं। आईपीएल सीजन शुरू होने से पहले मुझे अपने स्टांस पर काम करने और नए स्टांस के साथ अभ्यास करने का पूरा समय मिला। मुझे एहसास हुआ कि मैं क्रीज पर और बेहतर महसूस करने लगा था। तब से मैने वही स्टांस बरकरार रखा है और इससे मेरी बल्लेबाजी बेहतर हुई है।”

ईशान ने बताया कि धोनी ने झारखंड टीम के लिए फिटनेस कैंप का आयोजन किया था, जो घरेलू टीम के खिलाड़ियों के लिए काफी नया था लेकिन टीम को इससे बहुत फायदा हुआ। उन्होंने कहा, “धोनी भाई फिटनेस पर काफी जोर देते हैं। जैसा कि हम सभी जानते हैं उन्हें फिट रहने का शौक है। और उन्होंने ये निश्चित किया कि हम सब भी अपनी फिटनेस पर सीजन की शुरुआत से ही ध्यान दें। जाहिर सी बात है कि ये ऐसी चीज थी जो घरेलू टीम के लिए सामान्य नहीं थी लेकिन इसका अनुभव बेहतरीन था।” किशन ने मुंबई इंडियंस के लिए राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ पिछले मैच में अर्धशतक बनाया था लेकिन उनकी टीम 3 विकेट से ये मैच हार गई थी।