IPL 2018: MS Dhoni sends Harbhajan Singh, Deepak Chahar up the order to create chaos
MS Dhoni © AFP

किंग्स इलेवन पंजाब और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग के आखिरी लीग मैच में एक बार फिर महेंद्र सिंह धोनी की शानदार कप्तानी देखने को मिली। 154 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सीएसके टीम ने 27 के स्कोर पर 3 बड़े विकेट खो दिए थे। पंजाब के अंकित राजपूत को पिच से काफी मदद मिल रही थी और चेन्नई की मुश्किलें बढ़ रही थी। ऐसे में धोनी ने सभी को चौंकाते हुए स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह को पांचवें और फिर दीपक चाहर को छठें नंबर पर भेजा। विपक्षी टीम के कप्तान रविचंद्रन अश्विन इसके लिए तैयार नहीं थे और धोनी का ये दांव सफल रहा, हरभजन ने 19 रनों की पारी खेली और चाहर ने 39 रन बनाए। मैच के बाद धोनी ने बताया कि उन्होंने ऐसा थोड़ी हलचल बढ़ाने के लिए किया था।

प्रेसेंटेशन के दौरान धोनी ने कहा, “अगर आप उनके गेंदबाजी अटैक को देखें तो अंकित को ज्यादा स्विंग मिल रही थी। कप्तान के नजरिए से आप ऐसे में ज्यादा से ज्यादा विकेट निकालना चाहते हैं। इसलिए मैने उन्हें चौंकाने के लिए भज्जी और चाहर को आगे भेज दिया। गेंदबाज अचानक से यॉर्कर और बाउंसर डालने लगे। जब प्रमुख बल्लेबाज खेल रहे होते हैं तो गेंदबाज सही लाइन और लेंथ पर टिके रहते हैं लेकिन भज्जी और चाहर के सामने उन्होंने योजना पर बने रहने के बजाय अपनी लाइन और लेंथ खो दी। साथ ही भज्जी और चाहर अब प्लेऑफ के दौरान भी काम आ सकते हैं।”

Video: किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जीत के बाद जीवा के साथ बच्चे बने माही
Video: किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जीत के बाद जीवा के साथ बच्चे बने माही

दो साल के बाद आईपीएल में लौटी चेन्नई पहले ही सीजन में प्लेऑफ में पहुंच गई। इससे टीम मैनेजमेंट और फैंस काफी खुश हैं। धोनी ने इस बारे में बात करते हुए कहा, “टीम मालिक काफी अच्छे हैं, हमारे पास कई ऐसे लोग हैं जो खिलाड़ियों के करीब है। उनके पास खेल की समझ है। वो कप्तान का काम आसान बनाते हैं। अगर आपके पास अच्छी टीम नहीं है तो काम मुश्किल हो जाता है। हम नए खिलाड़ियों को जोड़ते रहे और वो अच्छा प्रदर्शन करते रहे। बड़ा बदलाव दो साल के बाद होगा, जब इनमें से अधिकतर खिलाड़ी यहां नहीं होंगे। मुमकिन है कि वो टी20 फॉर्मेट के लिए फिट नहीं रहेंगे।”

धोनी ने आगे कहा, “पिछले दस साल को देखें तो ये हमारे लिए अच्छे रहे हैं। हम सही प्रक्रिया अपनाना चाहेंगे क्योंकि हमे अच्छे नतीजे मिलेंगे। ऐसे कई फाइनल मैच थे, जहां मुझे पता था कि क्या गलती हुई है। इस फॉर्मेट में एक दो बड़े शॉट या एक रन आउट खेल बदल सकता है। हर कोई जीतना चाहता है। सभी ने नॉकआउट स्टेज में अच्छा प्रदर्शन किया है। टॉप 2 टीमों को एक अतिरिक्त मौका मिलेगा। जरूरी है कि मैच के दिन अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर ध्यान दिया जाय।” चेन्नई सुपरकिंग्स को 22 मई को सीजन का पहला क्वालिफायर सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेलना है।