IPL 2018: Shane Watson in awe of MS Dhoni’s cricket intuition
MS Dhoni, Shane Watson and Suresh Raina © AFP

अपनी कप्तानी में राजस्थान रॉयल्स को पहला आईपीएल खिताब जिताने के दस साल बाद शेन वाटसन एक बार फिर खिताब के करीब खड़े हैं लेकिन इस बार उनकी जर्सी का रंग पीला है। चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए खेलते हुए वाटसन का 11वां आईपीएल सीजन शानदार रहा है। इस ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने सीएसके के लिए खेले 13 मैचों में 147.47 की स्ट्राइक रेट से 438 रन बनाए हैं। वाटसन अपनी इस शानदार फॉर्म का पूरा श्रेय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को देते हैं। क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से बातचीत में वाटसन ने कहा, “मैं बहुत खुशकिस्मत हूं कि मुझे सीएसके में खेलने का मौका मिला, पूरे टूर्नामेंट में सलामी बल्लेबाजी करने का मौका मिला, जब भी कप्तान को मेरी जरूरत हुई मुझे गेंदबाजी का मौका भी मिला।”

11वें सीजन के बाद आईपीएल में नहीं नजर आएंगे ये खिलाड़ी!
11वें सीजन के बाद आईपीएल में नहीं नजर आएंगे ये खिलाड़ी!
वाटसन धोनी की कप्तानी से काफी प्रभावित हैं। कैप्टन कूल की तारीफ करते हुए वाटसन ने कहा, “एमएस की मदद करने के साथ अपने निजी मतलब के लिए उसके दिमाग को करीब के काम करते हुए देखना और जिस तरह से वो खेल पढ़ता है, उससे वो सारे सवाल पूछ पाना अच्छा रहा। खेल को लेकर उसका अनुभव और समझ महसूस कर पा रहा हूं। ऐसा मैने पहले कुछ ही महान खिलाड़ियों में देखा है। एमएस बेशक उनमे से एक है। खेल के लिए जो उनकी समझ है, कि बल्लेबाज क्या करने वाला है, गेंदबाज को क्या करना चाहिए, जैसा कि आपने देखा है कि जब वो बल्लेबाजी करता है तो दस में से 9 बार मैच खत्म करने आता है।”

दो साल बाद टूर्नामेंट में वापसी कर रही सीएसके टीम ने प्लेऑफ में जगह पक्की कर रही है और अब टीम सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 22 मई को होने वाले पहले क्वालिफायर की तैयारी कर रही है। टीम में कुल आठ खिलाड़ी 30 साल से ज्यादा उम्र के हैं, जिसे वाटसन कमजोरी नहीं बल्कि टीम की सबसे बड़ी ताकत मानते हैं। उन्होंने कहा, “इस बात में कोई शक नहीं है कि टी20 जैसे टूर्नामेंट और आमतौर पर क्रिकेट में दबाव की स्थिति में अनुभव बहुत काम आता है।” वाटसन को उम्मीद है कि चेन्नई तीसरा आईपीएल खिताब जीतने में कामयाब होगी।