IPL 2018: Shikhar Dhawan to join family business post retirement
शिखर धवन। © IANS

भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने कहा कि वह खेल से संन्यास लेने के बाद पारिवारिक बिजनेस से जुडेंगे। धवन ने एक समारोह के दोरान रिपोर्ट्स से कहा, “मैं अपने जीवन में बिजनेस कर रहा होता। एक बार क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद मैं बिजनेस ही करुंगा।” समारोह में मौजूद श्रीलंका के पूर्व स्पिन गेंदबाज और इंडियन प्रीमियर लीग में सनराइजर्स हैदराबाद के गेंदबाजी कोच मुथैया मुरलीधरन ने कहा कि उनके समय में गेंदबाजी करना आसान होता था क्योंकि तब खेल बल्लेबाजों के ज्यादा पक्ष में नहीं था।

चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के इस खिलाड़ी ने आईपीएल में पूरे किए 50 विकेट
चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के इस खिलाड़ी ने आईपीएल में पूरे किए 50 विकेट

मुरलीधरन ने कहा, “अब क्रिकेट काफी आगे बढ़ चुका है। जिस तरह से बल्लेबाज बल्लेबाजी करता है, उसके सामने गेंदबाजी करना आसान नहीं है। हमरे समय में ज्‍यादा टी-20 क्रिकेट नहीं होता था। मैने ज्‍यादा टी-20 नहीं खेला और टेस्ट क्रिकेट में हम आज की तरह छक्के नहीं मारते। हमारे समय में गेंदबाजी करना आसान था।”

मुरलीधरन ने माना कि 1996 विश्वकप जीतना उनके करियर का सबसे बड़ा क्षण था। मुरली ने आगे कहा, “1996 विश्व कप की जीत को मैं श्रीलंका क्रिकेट की सबसे उपलब्धि मानता हूं। सनराइजर्स के लिए 2016 की आईपीएल ट्रॉफी सबसे बड़ी थी।”हैदराबाद की टीम अबतक इस आईपीएल में खेले सभी मैच जीतने में कामयाब रही है। शिखर धवन ने अपने तीन मैचों में टीम के लिए 130 रन जोड़े हैं।