IPL 2018: Virat Kohli refuses to share ad space with Deepika Padukone for Royal Challengers Bangalore?
Virat Kohli (left) and Deepika Padukone © AFP

भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली इन दिनों अपने करियर की बुलंदियों पर हैं। विज्ञापन की दुनिया में हर कोई कोहली को अपने ब्रांड के साथ जोड़ना चाहता है। ये उनके करियर का ऐसा समय है कि वो अगर पत्‍थर पर भी हाथ रख दें तो वो सोना बन जाए। इसी तरह बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण भी अपने करियर की बुलंदियों पर हैं। हाल में दोनों सितारों के पास आईपीएल- 11 के दौरान एक साथ काम करने का मौका आया, लेकिन विराट कोहली ने दीपिका के साथ विज्ञापन करने से साफ इंकार कर दिया। विराट के इंकार के कारण रॉयल चैलेंजर बेंगलुरू को 11 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा।

हार्दिक पांड्या ने अंबेडकर का अपमान करने के आरोपों को नकारा, कहा मेरे नाम से बने फर्जी ट्विटर अकाउंट से की गई थी ये हरकत
हार्दिक पांड्या ने अंबेडकर का अपमान करने के आरोपों को नकारा, कहा मेरे नाम से बने फर्जी ट्विटर अकाउंट से की गई थी ये हरकत

इंसाइडस्‍पोर्ट्स डॉट कॉम वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक गो-आइबीबो कंपनी ने आईपीएल-11 के लिए आरसीबी की टीम के साथ 11 करोड़ रुपये में विज्ञापन का करार किया था। क्‍यों‍कि विराट आरसीबी के कप्‍तान है इसलिए कंपनी विराट और दीपिका पादुकोण को एक साथ लाकर एक एड शूट करना चाहती है। दीपिका पिछले एक साल से गो-आइबीबो के साथ जुड़ी हुई है।

वेबसाइट के सूत्रों के मुताबिक दीपिका बेंगलुरु की ही रहने वाली है, इसलिए उनका आरसीबी की टीम के साथ भावनात्‍मक जुड़ाव भी है। उन्‍होंने इस एड शूट के लिए तुरंत हां कर दिया, लेकिन विराट ने आरसीबी फ्रेंजाइजी को साफ कह दिया कि वो दी‍पिका के साथ सक्रीन शेयर नहीं करेंगे। विराट के इंकार के बाद आरसीबी को गो-आइबीबो का प्रस्‍ताव छोड़ना पड़ा। जिसके कारण उन्‍हें 11 करोड़ का नकसान उठाना पड़ा। ऐसे में अब ये सवाल उठना लाजमी है कि आखिर क्‍यों विराट कोहली दी‍पिका के साथ स्‍क्रीन शेयर नहीं करना चाहते।

नियम के मुताबिक विराट कोहली को आरसीबी के सभी विज्ञापनों का हिस्‍सा बनना होता है। ये करार कंपनी और आईपीएल टीम के बीच है। इसका खिलाड़ी और कंपनी के बीच करार से कोई लेना देना नहीं होता। आरसीबी के लिए गो-आइबीबो का विज्ञापन करने से विराट को कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन उन्‍हें दीपिका के साथ स्‍क्रीन शेयर करने से जरूर आपत्ति है। हालांकि इस विज्ञापन को नहीं करने के पीछे न तो विराट की तरफ से कुछ कहा गया है और न ही आरसीबी इसपर कुछ कह रही है।