Irfan Pathan to part ways with Baroda cricket team
इरफान पठान © IANS

भारतीय तेज गेंदबाज इरफान पठान बहुत जल्द बड़ौदा टीम से अलग हो जाएंगे। दरअसल 2016-17 के रणजी सीजन से ही बड़ौदा टीम में पठान की जगह पक्की नहीं हो पा रही है। मध्य प्रदेश के खिलाफ पहले मैच में 80 रन बनाकर एक विकेट लेने के बाद भी उन्हें आगे नहीं खिलाया गया था। वहीं 2017-18 रणजी ट्रॉफी सीजन के शुरू होने से पहले पठान को कप्तान बनाया गया था। हालांकि बाद में युवा बल्लेबाज दीपक हुड्डा को कप्तानी का जिम्मा सौंप दिया गया था। पठान ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में स्टेट एसोसिएशन के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर की थी।

पठान ने कहा था कि, “मेरा प्रदर्शन परेशानी नहीं है, मेरी फिटनेस परेशानी नही है, ना ही अनुशासन परेशानी है। आप बीसीए से ही पूछें कि क्या परेशानी है।” दूसरी तरफ बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन की सेक्रेटरी स्नेहल पारिख का कहना है कि पठान की फिटनेस परेशानी हैं, साथ ही बड़ौदा को एक युवा कप्तान की जरूरत है। पठान ने कप्तान पद से हटने के बाद आखिरकार बड़ौदा टीम से अलग होने का मन बना लिया है। उन्होंने मेल के जरिए बीसीए को इस बात की जानकारी दी और उनसे दूसरी घरेलू टीम में खेलने की इजाजत मांगी है।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के लिए चोटिल ऋद्धिमान साहा की जगह दिनेश कार्तिक टीम इंडिया में शामिल
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के लिए चोटिल ऋद्धिमान साहा की जगह दिनेश कार्तिक टीम इंडिया में शामिल

बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन को भेजे मेल में पठान ने लिखा, “मौजूदा हालात और टीम में मेरी जगह को लेकर बीसीए की योजना को देखते हुए मैने अपना मन बना लिया है। मुझे लगता है कि करियर के इस मोड़ पर मेरी काबिलियत का दूसरी किसी टीम में ज्यादा अच्छे तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है। मुझे 17 सालों के लिए एक खिलाड़ी के रूप में सेवा करने का अवसर देने के लिए बीसीए का शुक्रिया करते हुए मैं ये मेल लिख रहा हूं। मैं हमेशा ही आपका शुक्रगुजार रहूंगा। बीसीए के लिए खेलते हुए बिताए ये 17 साल मेरे करियर के सबसे यादगार साल रहेंगे।” बीसीए अगले हफ्ते होने वाली बैठक में पठान को एनओसी देने के बारे में चर्चा करेगी।